भिंड कलेक्टर ने ली क्लास:लापरवाही बरतने पर पटवारी और सचिव निलंबित

भिण्‍ड से डॉ. रवि शर्मा-

भिंड २९ अक्टूबर ;अभी तक; भिंड कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस बुधवार को गोहद अनुविभाग में प्रशासनिक व्यवस्थाएं देखने के लिए भ्रमण पर निकले। उन्होंने शासन द्वारा संचालित योजनाओं को आम व्यक्ति को मिलने वाले लाभ की समीक्षा की। इस दौरान कार्य में लापरवाही बरतने पर पटवारी और सचिवों को निलंबन किए जाने के आदेश दिए। वहीं गोदह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के निरीक्षण के दौरान एमपीएस और वार्डवॉय अनुपस्थित मिले। जिस पर कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। शासकीय कन्या हायर सेकंडरी स्कूल मौ के पदस्थ भृत्य अनुपस्थित रहने पर सात दिवस का वेतन काटने के साथ ही निलंबित करने के निर्देश दिए हैं। इस दौरान सीईओ जिला पंचायत जेके जैन, एसडीएम गोहद शुभम शर्मा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

बुधवार को भिंड कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस प्रशासनिक कसावट लाने के लिए निरीक्षण पर निकले। इस समय कलेक्टर के तीखे तेवर देखने को मिले। सबसे पहले कलेक्टर समेत अन्य प्रशासनिक अफसरों ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र गोहद का निरीक्षण किया। यहां स्वास्थ्य केंद्र को कायाकल्प में सम्मानित किए जाने के लिए निरीक्षण किया गया। परंतु अस्पताल प्रबंधन की व्यवस्था से नाखुश नजर आए। इस दौरान कार्य स्थल पर अनुपस्थित एक एमपीएस हिमाचल सिंह चौहान, वॉर्डवाय नुमेश नामदेव एवं नवाब सिंह थे। तीनों लोगों को को नोटिस जारी करने के लिए कहां। इस के बाद कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस ने मौ पहुंचे। यहां छात्राओं की पढ़ाई व्यवस्था देखने के लिए शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मौ का निरीक्षण करने पहुंचे। यहां व्यवस्थाओं का जायजा लिया, स्कूल में होने वाली पढ़ाई के बारे में स्कूल की छात्राओं से चर्चा की। इस दौरान पता चला कि स्कूल में पदस्थ आए दिन अनुपस्थित रहता है। कलेक्टर के भ्रमण के दौरान भृत्य शोभरन सिंह अनुपस्थित् था। इस पर संबंधित अफसर से भृत्य का सात दिवस का वेतन काटने एवं निलंबन की कार्रवाई के निर्देश दिए गए।

मौ में पटवारी एवं सचिवों की बैठक ली

इसे पश्चात कलेक्टर डॉ सतीष कुमार एस की अध्यक्षता में सीएम हेल्पलाइन, सीएम किसान योजना, बाजरा-ज्वार पंजीयन समेत अन्य शासकीय योजनाओं की समीक्षा की गई। इस दौरान पटवारी एवं सचिवों की संयुक्त बैठक तहसील कार्यालय मौ के सभागार में ली गई। बैठक में ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा के दौरान कलेक्टर ने पाया कि किटी सचिव रामनरेश शर्मा अनुपस्थित है। उक्त सचिव लगातार कार्य में लापरवाही बरत रहे हैं। इसी तरह जमदारा सचिव सियाशरण यादव द्वारा कार्य में लापरवाही की जा रही है। ग्राम स्तर पर समन्वय न रखने पर दोनों सचिवों को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने निर्देश सीईओ जनपद पंचायत गोहद को दिए। बैठक में कलेक्टर ने मौ तहसील के पटवारियों की समीक्षा बैठक के दौरान एसडीएम को निर्देिशित किया कि जिन पटवारियों के पास अधिक सीएम हेल्पलाइन लंबित है। उनके द्वारा कार्रवाई नही की जा रही है उनको नोटिस दिया जाए। कलेक्टर ने जिन पटवारियों के द्वारा बेहतर कार्य किया जा रहा है। जिन पटवारियों द्वारा किसानों के हित मे बेहतर काम किया है ऐसे पटवारियों को बधाई देकर उनके कार्य की प्रशंसा की।

एसडीएम गोहद ने किया पटवारी को निलंबित

इस दौरान अनुविभागीय अधिकारी राजस्व गोहद शुभम शर्मा द्वारा राजस्व निरीक्षण वृत्त एण्डोरी के प्रतिवेदन पर कार्य में लापरवाही एवं उदासीनता बरतने तथा मुख्यालय पर उपस्थित न रहने के कारण पटवारी मनीष नरवरिया सर्वा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।