भिंड के अमायन में बिजली दफ्तर से लॉकर चोरी, पुलिस ने एक महीने बाद रिपोर्ट लिखी

भिण्‍ड से डॉ. रवि शर्मा-

भिंड २० नवंबर ;अभी तक; भिंड जिले की अमायन थाना पुलिस ने लापरवाही की हद कर दी। अमायान में बिजली कंपनी के दफ्तर से चोरों ने धावा बोलते हुए मशीनरी समेत अन्य कई महत्वपूर्ण दस्तावेज चोरी कर लिए। इस बात की शिकायत बिजली के जेई की ओर से थाने में की गई। बिजली अफसर द्वारा की गई शिकायत पर अमायन पुलिस ने हल्के में लिया और शिकायत आवेदन लेकर मामला चलता कर दिया। यह शिकायती आवेदन के एक महीने बाद पुलिस मामला दर्ज करने की सुध आई।

बिजली कंपनी के जेई अमित शर्मा के मुताबिक 15 अक्टूबर को दफ्तर में बिजली कंपनी की लोह की अलमारी (एक फीट चौड़ी और एक फीट लंबा गोदरेज कंपनी का लॉकर) रखी थी। इसी दिन कोई अज्ञात चोर अलमारी लेकर चला गया। इस घटना की सूचना मिलने के बाद मामले की शिकायत को पुलिस थाने में दर्ज कराए जाने को लेकर आवेदन दिया गया था। जेई के मुताबिक अलमारी में दो पीओएफ मशीन, एक एमआर बुक, डाक टिकट, ऑफिसर की सील, दो डीडी करीब 70 हजार कीमत का। पुलिस ने यह शिकायती आवेदन को जांच किए जाने के नाम पर अपने पास रख लिया। इसके बाद बिजली कंपनी के अफसरों द्वारा बार-बार पुलिस थाने के चक्कर काटते रहे। परंतु पुलिस द्वारा रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई। इस मामले में अमायन थाना पुलिस ने एक महीने बाद यानी 19 नवंबर को रिपोर्ट दर्ज की।

फरियादी से पुलिस बोली- खाद वितरण में व्यस्त है

एक महीने बाद पुलिस द्वारा जांच किए जाने के बाद चोर की तलाश पूरी नहीं कर सकी। जब इस मामले में अमायन थाना प्रभारी दीपेंद्र यादव से बातचीत की उनका कहना है कि बिजली अफसर अपने स्तर पर जांच कर रहे थे। वहीं जेई शर्मा का कहना है कि चोरी की शिकायत के बाद पुलिस ने यह कहकर मामला टाल दिया कि अभी खाद वितरण में व्यस्त है। इस वजह से रिपोर्ट देरी से दर्ज हुई।

सीसीटीवी कैमरे बंद

चोरी की वारदात से पहले चोर को इस बात की अच्छी तरह जानकारी थी कि बिजली घर पर लगे सीसीटीवी कैमरे बंद है। चोरी के बाद बिजली कंपनी के अफसरों ने जब वारदात को लेकर जानकारी जुटाई तो कैमरों को बंद पाया। इस तरह पूरे मामले में बिजली कंपनी के कर्मचारियों की मिलीभगत पर भी संदेह हाेने की आशंका जाहिर की जा रही है।