मंडी में इस सीजन की सर्वाधिक १४ हजार बोरे की आवक

3:26 pm or November 3, 2022

मयंक भार्गव

बैतूल ३ नवंबर ;अभी तक;  दीपावली के बाद खरीब फसलों की कटाई और थे्रेसिंग पूर्ण होने के बाद अब मंडी मेें भी आवक बढऩे लगी है। बुधवार को कृषि उपज मंडी बैतूल में इस सीजन की सर्वाधिक १४ हजार ३५० बोरे की आवक हुई जिसमें सर्वाधिक ८ हजार ९९२ बोरे मक्का की आवक हुई। मंडी प्रबंधन द्वारा टे्रक्टर-ट्राली में खुली उपज लाने वाले किसानों को प्रोत्साहित करते हुए सबसे पहले टे्रक्टर-ट्राली की खुली उपज की तुलाई करवाई गई। वहीं बोरो में उपज लाने वाले किसानों को देर रात तक तुलाई करवाने रूकना पड़ा। बुधवार को टे्रक्टर-ट्राली में लगभग ५०० क्विंटल मक्का किसानों ने लाई। आज गुरूवार को बैतूल मंडी के साथ ही शाहपुर उप मंडी में भी नीलामी की जाएगी।

१ दिन में आई ९ हजार बोरे मक्का

खरीफ फसलों में सोयाबीन और मक्का की कटाई होने के बाद मंडी में सोयाबीन और मक्का की आवक बढऩे लगी है। बुधवार को बैतूल मंडी से इस सीजन में सर्वाधिक ८९९२ बोरे मक्का की आवक हुई। वहीं सोयाबीन की आवक भी मंगलवार की तुलना में लगभग ५०० क्विंटल बढ़कर १८०० क्विंटल से पार हो गई। मक्का और सोयाबीन की आवक बढऩे से मंडी की कुल आवक भी बढ़ गई। बुधवार को कुल १४ हजार ३५० बोरे की आवक हुई। जिसमें ८९९२ बोरे मक्का, १८०७ बोरे मक्का, ३४८८ बोरे गेंहू, ३० बोरा चना, २८ बोरे सरसो, ३ बोरे मंूग और 1-1 बोरा ज्वार और तुवर की आवक हुई।

ट्राली में फसल की पहले हुई तुलाई

कृषि उपज मंडी के सचिव एस के भालेकर ने बताया कि मंडी में किसानों को ट्राली में खुली उपज लाने प्रोत्साहित करते हुए ट्रालियों की नीलामी पहले करवाई गई। श्री भालेकर ने बताया बुधवार को लगभग २० ट्रालियों में ५०० क्विंटल मक्का खुली ट्राली में आई। जिसकी सबसे पहले नीलामी करवाई गई। नीलामी होते ही ट्रालियों में आई फसल की तुलाई भी पहले करवाई गई जिससे ट्राली में खुली उपज लाने वाले अधिकतर किसान दोपहर में ही तुलाई पर्ची लेकर चले गए। जबकि बोरो में भरकर उपज लाने वाले किसानों के ढेर की नीलामी बाद में हुई वहीं उनकी तुलाई भी रात तक होते रही।

बैतूल-शाहपुर दोनो जगह होगी खरीदी

मंडी सचिव श्री भालेकर ने बताया कि बुधवार को सीजन की सर्वाधिक आवक होने के बावजूद रात तक तुलाई हो जाएगी। आज गुरूवार को बैतूल मंडी के साथ ही शाहपूर उप मंडी में भी मक्का, सोयाबीन सहित सभी जिंसो की नीलामी की जाएगी। श्री भालेकर ने शाहपुर क्षेत्र के किसानों से उनकी उपज शाहपुर उपमंडी में ले जाने की अपील की है।