मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह ने की विकास कार्यों की समीक्षा, जिले में समय-सीमा में कार्य पूर्ण करने के दिए निर्देश 

9:23 pm or July 31, 2022
(दीपक शर्मा)
पन्ना ३१ जुलाई ;अभी तक;  खनिज साधन एवं श्रम मंत्री श्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह ने अधिकारियों को विभिन्न विभागीय विकास और निर्माण कार्यों को निर्धारित समयावधि में पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही पूर्ण हो चुके विकास कार्याें का लोकार्पण कराने के लिए निर्देशित किया गया है। मंत्री श्री सिंह ने शनिवार को कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में विभागीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर पन्ना विधानसभा के विकास और निर्माण कार्यों की प्रगति के संबंध में जानकारी ली। बैठक में पॉवर प्वाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से विभागीय कार्यों की प्रगति संबंधी जानकारी से अवगत कराया गया। इस अवसर पर कलेक्टर श्री संजय कुमार मिश्र सहित उत्तर एवं दक्षिण वन मंडल के डीएफओ, जिला पंचायत सीईओ और संबंधित विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित थे।
                               मंत्री श्री सिंह ने कहा कि सभी अधिकारी मुख्यमंत्री की घोषणा के परिपालन में कार्यों में तेजी लाकर जिम्मेदारीपूर्वक दायित्व का निर्वहन करें। निर्माण कार्य में गुणवत्ता का ध्यान रखें और लापरवाही बरतने वाले ठेकेदार को ब्लैक लिस्ट करने की कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि बंगाली समुदाय के भूमि पर पहले से काबिज लोगों का भौतिक सत्यापन कर पट्टा देने की कार्यवाही करें। इसी तरह मुख्यमंत्री भू-अधिकार योजना में पात्र व्यक्तियों का चयन कर लाभांवित किया जाए। उन्होंने रोजगार मेला, सकरिया में हवाई पट्टी के निर्माण, मंदिर में पाथवे निर्माण, हीरा कटिंग व पॉलिसिंग कार्य और पोषण आहार की प्रगति के संबंध में जानकारी ली। आंवला प्रसंस्करण इकाई की स्थापना, आंवला उत्पाद के विक्रय और कार्ययोजना तैयार कर स्थानीय निवासियों को रोजगार से जोड़ने के संबंध में भी कहा। डीएफओ को बिगड़े वन क्षेत्र में आंवला के पौधे रोपित करवाने और कोल्ड स्टोरेज निर्माण के संबंध में निर्देश दिए गए। उन्होंने कहा कि कृषि विज्ञान केन्द्र के भवन में कृषि महाविद्यालय के संचालन के लिए इस शैक्षणिक सत्र में प्रवेश संबंधी कार्यवाही सुनिश्चित करें। इसी तरह पॉलीटेक्निक महाविद्यालय में नए ट्रेड की शुरूआत के संबंध में जरूरी कार्यवाही के संबंध में निर्देश दिए गए।
                                 मंत्री ने कहा कि जल उपलब्ध करवाना पहली प्राथमिकता है। इसलिए संबंधित सभी परियोजनाओं में अविलंब कार्यवाही करना सुनिश्चित किया जाए। इसी तरह जल जीवन मिशन के कार्यों का समयावधि में क्रियान्वयन करना सुनिश्चित् करें। बैठक में अवगत कराया गया कि खोरा बांध की डीपीआर तैयार हो गई है। धरमपुर के गढ़ी तालाब के मरम्मत कार्य स्वीकृत होने की जानकारी भी प्रदान की गई। अन्य परियोजनाओं के संबंध में भी सर्वे रिपोर्ट, नक्शा, डिजायन इत्यादि के प्रस्ताव भिजवाने के लिए कहा गया। अमृत सरोवर की स्थिति और अमृत 2.0 योजना की भी समीक्षा हुई। उन्होंने कहा कि सभी प्राचीन कुओं और बावड़ी की सफाई के लिए टेण्डर की कार्यवाही करें। ललार गांव के विस्थापन, अनुसूचित जाति-जनजाति के लोगों को पट्टा वितरण के लिए सर्वे कार्यवाही और भौतिक सत्यापन के माध्यम से पात्र लोगों को लाभांवित करने, पन्ना और अजयगढ़ विकासखण्ड में वन व्यवस्थापन के कार्य में तेजी लाने, नगर परिषद अजयगढ़ के पीएम आवास के जियो टैगिंग व एमआईएस फीडिंग कार्य की प्रगति, वन विभाग से संबंधित प्रस्ताव, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के प्रकरण, नवीन राजस्व ग्राम की भी समीक्षा की गई। किलकिला फीडर के काम की शुरूआत के पहले जरूरी सर्वे कार्य, राष्ट्रीय राजमार्ग और पीडब्ल्यूडी की सड़क निर्माण की प्रगति, वन विभाग की बाधाओं को दूर करने के लिए जरूरी समन्वय, अजयगढ़ के पशु चिकित्सा विभाग की भूमि में बसे बसाहट को आबादी क्षेत्र घोषित कर विभाग के भवन को नगर परिषद को स्थानांतरित करने के संबंध में भी चर्चा हुई। इस अवसर पर हर घर तिरंगा अभियान और संजीवनी क्लीनिक की स्थापना के संबंध में भी अवगत कराया गया।
जिला पंचायत सीईओ ने भेंट की पुस्तक
                      जिला पंचायत सीईओ श्री बालागुरू के. ने पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा मध्यप्रदेश के अमृत सरोवर के बारे में प्रकाशित पुस्तिका की प्रति खनिज साधन एवं श्रम मंत्री और जिला कलेक्टर को भेंट की। पुस्तक में प्रत्येक जिले के अमृत सरोवर का वर्णन किया गया है। पन्ना जिले के कल्दा के अमृत सरोवर की जानकारी पुस्तक में प्रकाशित है। गत दिनों मुख्यमंत्री श्री चौहान ने यह पुस्तक प्रधानमंत्री को भेंट की थी। इस अवसर पर अतिरिक्त सीईओ अशोक चतुर्वेदी और परियोजना अधिकारी संजय सिंह परिहार भी उपस्थित रहे।
कियोस्क का फीता काटकर किया शुभारंभ
                        मंत्री श्री सिंह ने कलेक्टर कार्यालय में जनसुनवाई आवेदन के लिए कियोस्क मशीन का फीता काटकर शुभारंभ किया। जिला ई-गवर्नेंस प्रबंधक पुष्पेन्द्र तिवारी ने बताया कि कियोस्क मशीन के जरिए अब संबंधित आवेदक अपनी शिकायत ऑनलाइन दर्ज कर सकेगा। मशीन में स्कैन प्रक्रिया के बाद शिकायत संबंधित विभाग को प्रेषित होगी।