मंत्री श्री कावरे ने गोंगलई मंडी एवं वेयर हाउस का किया निरीक्षण

7:12 pm or September 2, 2020
मंत्री श्री कावरे ने गोंगलई मंडी एवं वेयर हाउस का किया निरीक्षण

आनंद ताम्रकार

बालाघाट २ सितम्बर ;अभी तक; जिले में पिछले दिनों हुई अति वर्षा एवं भीमगढ़ बांध से छोड़े गये पानी के कारण वैनगंगा नदी में बहुत अधिक बाढ़ आ गई थी। वैनगंगा नदी की बाढ़ का पानी गोंगलई स्थित कृषि उपज मंडी एवं मध्यप्रदेश स्टेट वेयर हाउस के गोदाम में भी भर गया था। मंडी कार्यालय में पानी भरने से मंडी का रिकार्ड एवं कम्प्यूटर पानी में भीग गये है। इसी प्रकार वेयर हाउस के गोदाम में रखे गेहूं एवं चने के बोरे भी भीग गये है और गेहूं-चना खराब हो गया है।

        मध्यप्रदेश शासन के राज्यमंत्री आयुष (स्वतंत्र प्रभार) एवं जल संसाधन विभाग श्री रामकिशोर “नानो’’ कावरे ने आज 02 सितम्बर 2020 को गोंगलई में कृषि उपज मंडी एवं मध्यप्रदेश स्टेट वेयर हाउस के गोदाम का निरीक्षण कर बाढ़ के पानी से हुए नुकसान एवं वहां की व्यवस्थाओं को देखा। निरीक्षण के दौरान बालाघाट एसडीएम श्री के सी बोपचे भी उपस्थित थे।

मंत्री श्री कावरे ने गोंगलई मंडी के पानी मे भीग गये रिकार्ड को सुखाकर व्यवस्थित करने के निर्देश दिये। इस दौरान उन्होंने मंडी के कर्मचारियों से उनकी समस्याओं को भी सुना। मंत्री श्री कावरे ने एसडीएम से कहा कि ग्राम गोंगलई में जिन किसानों की धान फसल को बाढ़ के पानी से नुकसान हुआ है, उसका शीघ्र सर्वे करायें। मंत्री श्री कावरे ने वेयर हाउस के गोदाम के निरीक्षण के दौरान पानी में खराब हो चुके गेहूं एवं चने के बोरों को देखा। इस दौरान उन्होंने वेयर हाउस के प्रभारी को निर्देशित किया कि गेहूं, चना के जो बोरे पानी में भीगने से बच गये हैं, उन्हें गोदाम से निकाल कर किसी अन्य सुरक्षित स्थान पर भंडारित करें। जिससे से भीगे हुए बोरों के सम्पर्क में न आ सके और खराब होने से बच जायें। मंत्री श्री कावरे ने वेयर हाउस के प्रभारी से कहा कि बाढ़ के पानी से भीग गये गेहूं एवं चने का राशन कार्ड धारकों को वितरण नहीं होना चाहिए, बल्कि इसे नष्ट करा दिया जाये।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *