मंत्री श्री कावरे ने दिया दीपावली का तोहफा 146 करोड रुपए की सिंचाई परियोजना कराई मंजूर

5:25 pm or October 21, 2022

  आनंद ताम्रकार

बालाघाट २१ अक्टूबर ;अभी तक;     मध्यप्रदेश शासन के राज्यमंत्री (आयुष स्वतंत्र) प्रभार एवं जल संसाधन श्री रामकिशोर नानो कावरे ने परसवाड़ा विधानसभा क्षेत्र की जनता को दीपावली का तोहफा देते हुए 146 करोड रुपए की लामता पाइप प्रेशराइज्ड इरीगेशन परियोजना स्वीकृत कराई है। आजादी के 75 वर्ष पश्चात भी परसवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में कोई ऐसी बड़ी योजना संचालित नहीं थी जिससे असिंचित भूमि पर आवश्यकतानुसार सिंचाई की जा सके।

       मंत्री श्री कावरे ने जल संसाधन विभाग का पदभार ग्रहण करते ही अपने विधानसभा क्षेत्र के असिंचित क्षेत्रों तक सिंचाई का पानी उपलब्ध करवाने के लिए अधिकारियों की टीम को प्लान बनाने के काम पर लगा दिया था। मंत्री श्री कावरे के निर्देश पर जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने प्लान करना चालू किया और नई टेक्नोलॉजी वाली लामता पाइप प्रेशराइज परियोजना तैयार किए यह योजना लामता एवं उनके आसपास के 55 ऐसे गांव जिनकी कृषि मानसून पर निर्भर थी पानी के स्रोत का स्तर नीचे है जमीन ऊंची नीची है को ध्यान में रखकर बनाई गई है। 55 गांव के किसानों को बड़ी राहत मिलेगी कुल पैदावार बढ़ेगी और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि किसान फसल उगाने में सक्षम हो जाएंगे।

       जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री नागेंद्र सिंह ठाकुर ने बताया कि इस सिंचाई परियोजना को स्वीकृति माननीय मंत्री श्री कावरे जी की तत्परता एवं अथक प्रयासों के कारण मिली है बालाघाट जिले के लिए यह अत्यंत महत्वाकांक्षी परियोजना है। परियोजना तैयार करने जब अधिकारी लगे हुए थे मंत्री जी स्वयं 5 की मानिटरिंग करते थे प्रमुख सचिव प्रमुख अभियंता तथा अन्य आला अफसरों को मंत्रालय में अपने चेंबर में बुलाकर इस काम को पूर्ण करने के निर्देश देते रहे और समीक्षा करते रहे।

       अनेकों कंप्लायंस एवं बैठकों के दौर के बाद यह योजना बनकर तैयार हुई सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि मंत्री श्री कावरे ने बजट में इस योजना के लिए राशि का प्रावधान करवाया और अंततः इस परियोजना के लिए 146 करोड रुपए की प्रशासकीय स्वीकृति मिल पाई। इस परियोजना से 55 गांव के कुल 12 हजार  किसान लाभान्वित होंगे तथा 9630 हेक्टेयर भूमि सिंचित होगी। खरीफ की फसल का उत्पादन पहले से बेहतर होगा। परियोजना के निर्माण कार्य के लिए निविदा की कार्यवाही  प्रक्रियाधीन है। टेंडर पश्चात मंत्री श्री कावरे के निर्देशानुसार निर्माण कार्य के लिए भूमि पूजन किया जावेगा।