मंदसौर इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेदिक एज्युकेशन एण्ड रिसर्च, मंदसौर में रक्तदान शिविर एवं विधिक जागरूकता शिविर सम्पन्न

8:22 pm or June 16, 2022
महावीर अग्रवाल
           मंदसौर १६ जून ;अभी तक;   जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर के तत्वाधान में माननीय प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर श्री अजीत सिंह के मार्गदर्शन एवं जिला न्यायाधीश/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री हर्ष सिंह बहरावत के दिशा-निर्देशन में दिनांक 16 जून, 2022 को स्थान मंदसौर इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेदिक एज्युकेशन एण्ड रिसर्च, मंदसौर में रक्तदान शिविर का आयोजन सम्पन्न हुआ।
                 सर्वप्रथम आयुर्वेद के देवता धनवंत्री के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। तदोपरांत जिला न्यायाधीश एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर श्री हर्षसिंह बहरावत के द्वारा बताया गया है कि रक्तदान किये जाने के संबंध में जो आमजन में भ्रांतिया फैली है, उसे दूर की जानी चाहिए। श्री बहरावत के द्वारा रक्तदान किये जाने से होने वाले लाभों को वर्णित करते हुए उपस्थित जन से व आमजन से अपील की है कि वे इस पुनीत कार्य में अपनी सहभागिता दर्ज कराये व अधिक से अधिक रक्तदान की इस प्रक्रिया में भाग ले।
                  साथ ही श्री बहरावत द्वारा अपने उद्बोधन में कानूनी पहलुओं पर भी प्रकाश डाला। उन्होने मोटर यान अधिनियम, सायबर लॉ के महत्वपूर्ण प्रावधानों तथा सोशल मीडिया के सावधानीपूर्वक उपयोग किये जाने के बारे में सहज उदाहरणों सहित विचार व्यक्त किये।
               उपरोक्त आयोजित रक्तदान शिविर में युनिविर्सिटी के विद्यार्थीगणों द्वारा रक्तदान किया गया। उक्त आयोजित रक्तदान शिविर में 25 यूनिट रक्त कलेक्शन किया गया।
                    जिला न्यायाधीश/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री हर्षसिंह बहरावत, मंदसौर युनिवर्सिटी के वाईस चांसलर ब्रिगेडियर डॉ. भारतसिंह रावत, मंदसौर इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेदिक एज्युकेशन एण्ड रिसर्च, मंदसौर की प्राचार्य डॉ. मीनाज कुलकर्णी, महाविद्यालय के प्राध्यापक श्री डॉ. एस.एस. शर्मा व अन्य प्राध्यापकगण, जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री प्रवीण कुमार, पैरालीगल वालेंटियर श्री आदिल हुसैन, सुश्री हूरबानो सैफी, संस्था के विद्यार्थीगण बड़ी संख्या में उपस्थित रहे।
कार्यक्रम के उपरांत मंदसौर इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेदिक एज्युकेशन के विद्यार्थियों द्वारा नाट्य प्रस्तुति के माध्यम से रक्त दान के महत्व को बताया।
संचालन डॉ. अन्तिमबाला गेहलोत द्वारा किया गया एवं कार्यक्रम का आभार डॉ. लोकेन्द्र सोलंकी ने माना।