मंदिर के दान पेटी से रूपयों की चोरी करने पर आरोपी की जमानत याचिका सत्र न्यायालय से निरस्त

महावीर अग्रवाल

मंदसौर  २८ अगस्त ;अभी तक;   माननीय पंचम अपर सत्र न्यायाधीश महोदय श्री इंद्रजीत रघुवंशी सा0 मदंसौर  द्वारा आरोपी बालूंिसंह पिता कानसिंह सौ. उम्र 32 साल नि0 झालाबाढ राजस्थान       का जमानत आवेदन निरस्त किया गया।

मीडिया सेल प्रभारी नितेश कृष्णन ने बताया कि मामला इस प्रकार है कि तहण् सुवासरा के ग्राम देवपुरा बामनी में पहाडी पर भगवान देवनारायण का मंदिर बना है दिनांक 14ण्01ण्2020 की रात्रि करीब 10रू30 बजे मंदिर के पास रहने वाले सौदान सिंह को मंदिर में जोर.जोर की आबाज सुनाई दी जिस पर से उसे शंका हुई की जरूर मंदिर मंे कोई चोर घुस आये हैं जिस पर से सौदान सिंह व उसके साथी शंकरसिंहए गोपालसिंह आदि मंदिर की तरफ गये तो उन्हें  वहां रखी मंदिर की दानपेटी टूटी मिली जिसे लोहे की राॅड से तोडा गया था। पास में ही तीन व्यिक्ति झाडियों तरफ भागते दिखे सभी लोगों के द्वारा उनका पीछा करने पर दो व्य क्ति मोटरसाईकल से भाग गये व एक व्येक्ति को पकडा जिसका नाम पता पूछते उसने बालूंिसंह पिता कानसिंह सौ. उम्र 32 साल नि0 झालाबाढ राजस्थान का होना बताया व अन्य दो व्यक्तियों के नाम किशनसिंह व रामसिंह होना बताया गांव के लोगों के द्वारा बालूसिंह से सख्ती से पूछने पर हम तीनों लोगों ने मंदिर की दानपेटी तोडी है व उसके पैसे निकाल लिये हैं गांव वालों के द्वारा आरोपी को थाना सुवासरा ले जाकर उसके विरूद्ध अपराध दर्ज करवाया गया जिस पर से पुलिस सुवासरा के द्वारा अपराध क्र. 15/2020 धारा 457, 380 का अपराध दर्ज किया गया। बाद गिरफतार कर आरोपी बालूंिसंह पिता कानसिंह को न्यायालय में पेश किया गया। उक्त  प्रकरण में आरोपी की ओर से जमानत आवेदन प्रस्र्तुत किया गया  था जो आज सुनवाई हेतु नियत था।

आज दिंनाक को आरोपी बालूंिसंह पिता कानसिंह के द्वारा माननीय पंचम अपर सत्र न्यायाधीश महोदय श्री इंद्रजीत रघुवंशी सा0 मदंसौर केे समक्ष जमानत याचिका प्रस्तुत की गई जिस पर से अपर लोक अभियोजक राजकुमार सिंह देवडा के द्वारा जमानत का घोर विरोध करते हुए आपत्ति दर्ज कराई जिस पर माननीय न्याजयालय के द्वारा आरोपी की जमानत याचिका निरस्त की गई।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *