मंदिर के मुख्य द्वार पर लड़की द्वारा अश्लील नृत्य पुलिस ने दर्ज किया मामला

रवीन्द्र व्यास 

छतरपुर //// 26 सितम्बर 21 अभीतक , नगर के प्राचीन जानराय टौरिया मंदिर के मुख्य द्धार पर   डांस करती एक लड़की का वीडिओ वायरल होते  ही हिन्दू संगठन के लोग भड़क गए | मामले की शिकायत पुलिस कोतवाली में की गई है , पुलिस ने मामले में जांच के बाद कार्यवाही की बात कही है |

                 छतरपुर एसडीओपी शशांक जैन ने बताया  की ऐसे  एक विडिओ की शिकायत बजरंग दल द्धारा की गई है | मामले में जांच के बाद कार्यवाही की जायेगी | 

छतरपुर कोतवाली पुलिस ने बजरंग दल के जिला संयोजक सुरेंद्र शिवहरे द्वरा आज की गई  शिकायत पर आरती साहू के विरुद्ध भा द स १८६० की धारा 298 के तहत मामला दर्ज कर विवेचना में लिया गया है | 

                  छतरपुर के चेतगिरि कालोनी में रहने वाली आरती साहू इंस्टाग्राम और यू ट्यूब पर अपने विडिओ बनाकर पोस्ट करती है| अब तक उसके द्वारा 4889 पोस्ट सिर्फ इंस्टग्राम पर किये जा चुके हैं |  | मंदिर के अंदर ” मेरी शाम अवध से आई हैं — रातें बम्बई से चुराई हैं ” जैसे गाने पर उसने अपना वीडिओ शूट कराया था | इसे किसी ने वायरल कर दिया | वीडिओ वायरल होने पर  आरती साहू  बताया कि मेरे इंस्टाग्राम पर 25 लाख फॉलोवर्स हैं , और में शार्ट विडिओ बनाती हूँ | मंदिर पर वीडिओ के विवाद पर उसका कहना है कि उस मंदिर में में बचपन से जाती रही हूँ और वीडिओ बनाती रही हूँ | वो मेरे घर जैसा है | पंडित जी ने बोला है कि बेटा तुमने जो वीडिओ बनाया है उसमे लोग बोल रहे हैं कि वो सनातन धर्म के लिए ठीक नहीं है उसके लिए हमने वो विडिओ हटा दिए हैं | पंडित जी ने बोला है कि एक तुम माफ़ी टाइप का वीडिओ  बनाकर सोशल  मीडिया पर डाल दो और हर जगह सर्कुलेट कर दो कि गलती हुई है | पंडित जी ने यह भी बोला था सबसे कि इसे लेकर ज्यादा तूल ना मचाये क्या  इस चीज के लिए बच्ची को फांसी दे देंगे , इसके बाद भी लोग मानने को तैयार नहीं हैं | मेने वो वीडिओ किसी की भावनाओ को ठेश पहुंचाने के लिए नहीं बनाया था | हम तो मंदिर सिर्फ घूमने गए थे ,बचपन से वहां वीडिओ बनाते रहे हैं | अभी मेरे फॉलोवर्स बढ़ गए तो वो चीज मेरे दिमाग में नहीं आई कि इस चीज को वो गलत वे में उपयोग करेंगे | मेने इसके लिए माफ़ी भी मांगी वो सारे वीडिओ डिलीट कर दिए || आरती का कहना है की हमारी परिवार की आय का यही एक मुख्य श्रोत है , मेरे पिता हार्ट पेशेंट हैं क्योंकि में अपने घर की इकलौती हूँ इसीसे घर चलता है ,इसी से मेरे पापा की दवाई और मेरी पढ़ाई का खर्चा चलता है |