मण्डला कुपोषण से मुकाबला करती आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं द्वारा मांगों का धरना

8:13 pm or April 3, 2021
मण्डला कुपोषण से मुकाबला करती आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं द्वारा मांगों का धरना
मण्डला से सलिल राय
मंडला ३ अप्रैल ;अभी तक; मध्यप्रदेश के आदिवासी बाहुल्यता की पहचान लिए मण्डला जिला में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आंगनबाड़ी केंद्रो में बाल कुपोषण और महिलाओं को कुपोषण से सुपोषण की जद में लाने के लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं द्वारा अपनी मांगों को लेकर कलेक्ट्रेट मार्ग में धरना प्रदर्शन एक अप्रैल से किया जा रहा हैं।
मध्यप्रदेश बुलंद आवाज नारी शक्ति आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संगठन भोपाल के आव्हान निर्देश पर मण्डला शाखा द्वारा जारी इस धरना प्रदर्शन कर रही आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं ने जानकारी के हवाले में  बताया कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओ एवं सहायिकाओं को शासन के निर्देशानुसार पोषण ट्रेकर एवं डाउनलोड कार्य करने के लिये अधिकारियों द्वारा अनुचित दबाब डाला जा रहा हैं।जबकि मैदानी अमला के पास  स्मार्ट मोबाईल एवं बेलेंस नही होता यही नही  बहुत सी कार्यकर्ताओ कम पढ़ी लिखी है और जिनके पास सिस्टम है तो मोबाइल नेटवर्किंग की असुविधाओं से परेशानी होती हैं।
 आंदोलनरत महिलाओं ने कहा है कि मिल रही मानदेय राशी अपने परिवार का संचालन बेहद मुश्किल होता हैं। ऐसे में मोबाइल डाटा की व्यय राशी की व्यवस्था करना आसान नही हैं। ऐसी परिस्थितियों में अधिकारियों द्वारा सेवा समाप्ति की धमकी दी जाती हैं।इस स्थिति मैदानी वर्कर्स मानसिक तनाव की पीड़ा असहनीय होती हैं।
अपनी मांग पत्र में कहा गया है कि साल 2018 में प्रधानमंत्री द्वारा 1500 रुपये  बढ़ाये गये थे यह राशि भी नही मिल पा रही हैं।
 संगठन के द्वारा अपनी मांगों को लेकर प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री कलेक्टर मण्डला पुलिस अधीक्षक मण्डला जिला कार्यक्रम अधिकारी मण्डला के साथ जिले की समस्त  परियोजना अधिकारियों को ज्ञापन दिया गया हैं।
आंदोलनरत संगठन की कार्यकर्ताओ सहायिकाओं में अभिलाषा राय सीमा शुक्ला गंगोत्री कछवाहा सुहागवती यादव प्रभा कछवाहा जमुना बैरागी सुनीता सिगार नीमा निशा दिवेश ठाकुर और अन्य ने कहा कि कोरोना संक्रमण जिले लगी प्रतिबन्ध धारा का परिपालन करते हुऐ आगामी सोमवार से शासन प्रशासन के निर्देश का पालन करते हुये केवल पांच महिलाओं द्वारा ही धरना तब तक जारी रहेगा जब तक मांगे पूरी नही होती हैं।
आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओ एवं सहायिका ने कहा है कि चल कोरोना संक्रमण काल में हम सभी उन निर्देशो का पालन करेंगे जिससे शासन प्रशासन चाहता हैं।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *