मण्डला में आवश्यक जीवनुपयोगी वस्तुये की होगी पूर्ति, जिले में कोरोना से बचने बताये उपायों का पालन करें – दीपक शुक्ला एस पी

मण्डला से सलिल राय

मंडला २५ मार्च ;अभी तक; मध्यप्रदेश के मण्डला जिले में विश्व महामारी के रूप में पैर पसार रहे कोरोना से अपने आपको और सबको सुरक्षित रखने का एक मात्र विकल्प हैं अपने को परिवार को घर मे ही रहकर इस महामारी से बचा जा सकता हैं प्रधानमंत्री प्रदेश के मुख्यमंत्री और जिला प्रशासन पुलिस महकमा स्वास्थ्य विभाग बस एक ही अपील कर रहे है अपने घर आँगन की सीमा में ही रहे र कोरोना के पर कतरने के लिए यही सबसे बड़ी ओषधि और अस्त्र शस्त्र हैं।

मण्डला में आवश्यक जीवनुपयोगी वस्तुये की होगी पूर्ति जिले में कोरोना से बचने बताये उपायों का पालन करें - दीपक शुक्ला एस पी
मण्डला में आवश्यक जीवनुपयोगी वस्तुये की होगी पूर्ति जिले में कोरोना से बचने बताये उपायों का पालन करें – दीपक शुक्ला एस पी

आज से चेत्र नवरात्रि शुरू हो चुकी हैं श्रद्धालुओं ने माता की कलश स्थापना घरों में हो रही लोगो को पूजा पद्धति के लिये पूजा पाठ की सीमित सामग्री भी मिल गई हैं हा कोरोना के बचाव की दृष्टि से पूर्व की तरह मदिरों में शांति व्याप्त रही।

इधर आज रात मण्डला जिला पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार शुक्ला से दूरभाष से मिले अपडेट में एस पी मण्डला ने बताया कोरोना से सुरक्षित रहने के लिए चल रही घरबन्दी ही कोरोना के बढते विनाशकारी आपदा से बचा जा सकता हैं जिले में लोगो की जरूरतों की वस्तुएं के वितरण के लिए प्रबन्धन कर लिए गये हैं, घबराने की कतई आवश्यकता नही हैं केवल केंद्र और राज्य सरकारों की बचाव अपील निर्देशो का हरहाल में पालन किया जाये यही सर्वजन हिताय और बहुजन सुखाय हैं ।

   इधर मण्डला के  जिला दण्डाधिकारी डॉ. जगदीश चन्द्र जटिया ने कोरोना वायरस रोग के फैलने की गंभीर स्थिति को देखते हुए लोक स्वास्थ्य एवं क्षेम की दृष्टि से चिंताजनक होने से कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अंतर्गत 18 मार्च, 21 मार्च, 22 मार्च एवं 23 मार्च को प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए हैं। उन्होंने मुख्य सचिव, मध्यप्रदेश शासन द्वारा 23 मार्च को जारी मार्गदर्शिका के अनुसरण में पूर्व में जारी प्रतिबंधात्मक आदेश के अनुक्रम में आंशिक संशोधन करते हुए उपरोक्त के अतिरिक्त संपूर्ण मंडला जिले की समस्त राजस्व सीमाओं में आगामी आदेश तक प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए हैं। 

            जारी आदेश के तहत् जिले में लॉकडाऊन घोषित होने से किसी भी व्यक्ति को अपने घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी। कोई भी व्यक्ति अत्यावश्यक कार्य की स्थिति में अपने मुंह एवं नाक को गमछा, रूमाल या मॉस्क आदि से ढककर ही अपने घर से बाहर निकलेगा। जिले की सभी सीमाऐं सील की गई हैं। किसी भी माध्यम से जिले की सीमा में बाहरी लोगों का आगमन प्रतिबंधित किया गया है। जिले में निवासरत नागरिकों को भी जिले की सीमा से बाहर जाना तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित किया गया है। जिले के समस्त शासकीय, अर्द्धशासकीय, अशासकीय कार्यालय जिसमें केन्द्रीय संस्थाऐं भी शामिल हैं, समस्त व्यवसायिक प्रतिष्ठान को बंद किया गया है। समस्त लोक परिवहन सेवाऐं जिसमें निजी बसें, टैक्सी, ऑटो रिक्शा, ई-रिक्शा भी शामिल हैं, को बंद किया गया है एवं अंतरजिला बस भी बंद की गई है। समस्त निर्माण कार्य बंद किए गए हैं। 

            जिला दण्डाधिकारी ने समस्त धार्मिक स्थल में आमजन का प्रवेश प्रतिबंधित किया है। सामूहिक आरती, पूजा, तकरीर, लंगर, हवन, प्रवचन, प्रार्थना, सामूहिक भोज, भंडारे प्रतिबंधित किये गये हैं। केवल इनके पुजारी मौलवी, पादरी आदि को पूजा, अर्चना की छूट रहेगी। उन्होंने लोगों को सूचित किया है कि वे घर पर ही रहें एवं अत्यावश्यक सेवा के लिए घर के निकटतम सेवा प्रदाता तक ही जा सकते हैं जो स्वघोषणा के आधार पर अनुमति होगा परंतु सोशल डिस्टेशिंग के दिशा-निर्देशों का पालन करने के भी निर्देश दिये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *