मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद की कयामपुर सेक्‍टर की बैठक में तीन साथियों ने ली शपथ ,नहीं करेंगे जीवन भर नशा

7:22 pm or November 21, 2022

महावीर अग्रवाल 

     मन्दसौर , कयामपुर २१ नवंबर ;अभी तक;  मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद के मार्गदर्शन में नवांकुर संस्था नाटाराम प्रगतिशील विकास समिति द्वारा सेक्‍टर क्रमांक 1 की बैठक खाकी बाग मंदिर कयामपुर में संपन्न हुई । जिसमें जिला समन्वयक तृप्ति बैरागी ,ब्लॉक समन्वयक नारायण सिंह निनामा, वृद्ध सहायता केंद्र से राजेश चौहान ,हरिओम ,गंधर्व दिलीप भटनागर, गोपाल लोहार विशेष उपस्थित थे।

कार्यक्रम में जिला समन्वयक तृप्ति बैरागी ने कहा कि नशा नाश की जड़ है नशे को जड़ से खत्म करने के लिए गांव-गांव मे अलख जगाने की जरूरत है। 30 नवंबर तक हर ग्राम विकास प्रस्फुटन समितिया नशे के खिलाफ गतिविधियां करें और नशा करने वाले युवाओं को नशा नहीं करने की शपथ दिलवाये। जिला समन्वयक तृप्ती वैरागी ने कहा की ऊर्जा संरक्षण को लेकर हमें बेहतर काम करने की जरूरत है। विकासखंड समन्वयक नारायण सिंह निनामा ने प्रस्फुटन समितियों के कार्यों के बारे में अवगत कराया।

इस अवसर पर ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति कयामपुर के अध्यक्ष दिलीप भटनागर ,बोलिया के अध्यक्ष मांगीलाल जी डांगी एवं बर्डियाबरखेड़ा के अध्यक्ष मांगीलाल लीलोरिया को गंगाजल हाथ में लेकर नशा नहीं करने की शपथ दिलाई गई। बैठक के बाद सभी साथियों ने नशामुक्ति की शपथ लेते हुए खाकी बाग मंदिर प्रांगण में बेलपत्र ,शशि एवं गुलाब के पौधों का रोपण किया गया ।

बैठक में मुख्यमंत्री सामुदायिक नेतृत्व क्षमता विकास पाठ्यक्रम के छात्र प्रहलाद कुशवाह द्वारा रक्तदान के लिए किए गए कार्यों को अवगत कराएं । साथ ही दलावदा को नशा मुक्त बनाने में किए गए कार्यों से अवगत कराएं। प्रस्फुटन समिति कचनारा के अध्यक्ष नीलू राठौर ने आयुष्मान भारत ओर ई श्रम के बारे में  अवगत कराया गया ।साथ ही ज्योति धाकड़ एरा द्वारा लाङली लक्ष्मी योजना को लेकर किए गए कार्यों के बारे मे अवगत कराया। बैठक में शिवलाल सेन ,मांगीलाल डांगी, रवि गुप्ता कयामपुर,नंदकिशोर पाटीदार कोटङा बहादुर,सुशील पाटीदार ,भगतराम राठौर, जगदीश धाकड़, चेनराम जलारा, घनश्याम सरसपुरा गोपाल  राजाखेड़ी ,लक्ष्मीनारायण  नाटाराम मोहनलाल रामगढ़, बद्रीलाल धाकड़ धाकड़ पिपलिया सहित 24 ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति के अध्यक्ष सचिव उपस्थित थे । बैठक का संचालन हरिओम गंधर्व ने किया। अंत में आभार दिलीप भटनागर माना।