मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग में मामला आने पर कांतिबाई को मिले 2.89 लाख रूपये*

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर / भोपाल  २७ दिसंबर ;अभी तक;  मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग में मामला आने पर एक आवेदिका को उनके स्व. पति के लंबित देय स्वत्वों के रूप में 2 लाख 89 हजार 120 रूपये का भुगतान मिल चुका है। मामला सतना जिले का है।
                          आयोग के *प्रकरण क्र. 0701/सतना/2019* के अनुसार सतना जिले के ग्राम बरही, तहसील मैहर निवासी श्रीमती कांतिबाई पत्नी स्व. श्री राजकिशोर गर्ग ने दो फरवरी 2019 को आयोग में आवेदन लगाया कि उनके पति तहसील कार्यालय, अमरपाटन में मालजमादार थे। मालजमादार के पद पर पदस्थ रहते हुये ही 31 दिसम्बर 2016 को उनका स्वर्गवास हो गया था। स्वर्गवास के बाद उनके पेंशन प्रकरण का निराकरण नहीं होने से आवेदिका के परिवार की आर्थिक स्थिति अत्यंत खराब हो गई थी। आवेदिका ने आयोग से उसे पेंशन या लंबित स्वत्वों का भुगतान दिलाने का अनुरोध किया था। आवेदन मिलते ही आयोग ने कलेक्टर सतना से जवाब मांगा। अंततः तहसीलदार अमरपाटन,  जिला सतना द्वारा आयोग को अवगत कराया गया है कि आवेदिका श्रीमती कांतिबाई गर्ग को उनके स्वर्गवासी पति के विभागीय भविष्य निधि में जमा राशि 2 लाख 89 हजार 120 रूपये देय स्वत्व राशि का भुगतान कर दिया गया है। आवेदिका द्वारा भी इसकी पुष्टि कर दी गई है। चूंकि आवेदिका की समस्या निराकृत हो चुकी है, अतः आयोग में भी यह प्रकरण अब समाप्त कर दिया गया है।