मध्यप्रदेश में ग्राम पंचायतें पयुर्षण पर्व के दौरान पशु कत्लखाने, मांस मछली की दुकानें बन्द रखने के निर्देश जारी करे

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर ९ सितम्बर ;अभी तक;  अखिल भारतीय जैन दिवाकर विचार मंच के प्रांतीय अध्यक्ष विजय खटोड़ ने मध्यप्रदेश में निवासरत सभी जैन बन्धुओं से अपील की है कि वे अपने क्षेत्र की ग्राम पंचायतों, नगर पंचायतों, नगरपालिका एवं नगर निगमों को पत्र लिखकर पर्यूषण पर्व के दौरान 10 से 19 सितम्बर तक  क़त्ल खाने या मांस की दुकानों को बंद रखने की मांग करे।
               श्री खटोड़ ने बताया कि गणेश चतुर्थी, ऋषि पंचमी, धूप दशमी, झलझुलनी ग्यारस, अन्नत चर्तुदशी एवं पर्युषण पर्व जैन सम्प्रदाय एवं हिन्दू सम्प्रदाय के लिए त्याग और तपस्या का पर्व है। ऐसे में पशुओं का कत्ल करने से जैन धर्म की धार्मिक भावना को आघात पहुंचता है। राजस्थान की ग्राम पंचायत बोराव सहित अनेक पंचायतों द्वारा पत्र जारी कर अंहिसा एवं जीवदया की भावना को मद्देनजर रखते हुए निर्देश दिए है कि दिनांक 10 सितम्बर, शुक्रवार से 19 सितम्बर 2021, रविवार (भादपद्र चर्तुर्थी से भादपद्र चतुदर्शी तक) तक क्षेत्र में चलाई जा रही मांसाहार व पशु वधगृह व मांस मछली की दुकानों को बंद रखने के निर्देश दिये है।  ऐसे ही निर्देश मध्यप्रदेश की भी हर ग्राम पंचायत द्वारा जारी किये जाये इस संबंध में सभी जैन बंधु आगे आकर अपने-अपने क्षेत्र में ग्राम पंचायतों को पत्र लिखकर मांग करे।
                विचार मंच के राष्ट्रीय महामंत्री शशि नरेंद्र मारु, राष्ट्रीय महामंत्री संजय तरवेचा, राष्ट्रीय युवा अध्यक्ष आशीष चौरड़िया, संयोजक अजीत खटोड़, महामंत्री मनीष भटेवरा, कोषाध्यक्ष संजय पोरवाल, प्रवक्ता महावीर जैन,  प्रांतीय मंत्री अशोक मारू, अनिल संचेती, अनिल नाहर, कमल कच्छारा, अजीत नाहर, प्रांतीय महिला अध्यक्ष रूपल अशांशु संचेती, राष्ट्रीय महिला कार्यकारिणी सदस्या अनिता खटोड़, संगीता चौरड़िया, राखी नाहर, मधु कड़ावत, इन्दू चौधरी, डिम्पल पोरवाल, जिलाध्यक्ष सुनील दक, सचिव राजेश जैन, कोषाध्यक्ष संजय श्रीमाल, महिला जिला अध्यक्षा चंदा संचेती, कोषाध्यक्ष मधु मालु ने  भी सभी जैन समाजजनों से अपने-अपने क्षेत्र के पशु कत्ल खाने एवं मांस-मछली के व्यापार पयुर्षण पर्व के दौरान बन्द रखने हेतु संबंधित को पत्र लिखने का आव्हान किया है।