मध्यप्रदेश में विद्युत वितरण कम्पनियों के निजीकरण के विरोध में  विद्युत संगठनों ने बनाया संयुक्त मोर्चा

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर 9 नवंबर ;abhi tak;  केन्द्र सरकार द्वारा बिजली की वितरण कम्पनियों के प्रस्तावित निजीकरण को रोकने के लिए मध्यप्रदेश की बिजली कम्पनियों में कार्यरत अभियंता संगठनों, कर्मचारी संगठनों, संविदा व आउटसोर्स संगठनों ने एकजुट होकर संघर्ष करने के संकल्प के साथ तीन सूत्रीय मांगों के लिये सर्वसम्मति से संयुक्त आंदोलन करने का निर्णय लिया गया।
                  उक्त जानकारी देते हुए विद्युत फेडरेशन के महामंत्री  बी. डी. गौतम व जोनल सचिव डी. एस. चंद्रावत ने बताया कि लिये गये निर्णय के अंतर्गत संयुक्त आंदोलन के लिए गठित मोर्चे का नाम ‘‘मध्यप्रदेश विद्युत निजीकरण विरोधी संयुक्त मोर्चा‘‘ होगा। मोर्चा की मांग है कि आउटसोर्स कर्मचारियों का बिजली कम्पनियों में संविलियन किया जाए, विद्युत कम्पनियों में कार्यरत संविदा कर्मचारियों का नियमितीकरण किया जाए।
                   उल्लेखनीय है कि सरकार द्वारा मध्यप्रदेश में बिजली वितरण की कम्पनियों के प्रस्तावित निजीकरण के विरोध में संयुक्त आंदोलन संचालित करने के लिए बिजली कम्पनियों में कार्यरत संगठनों की एक महत्वपूर्ण बैठक भोपाल में  आहूत की गई । बैठक में निर्णय लिया गया कि अगर सरकार विद्युत क्षेत्र के निजीकरण का प्रस्ताव वापस नहीं लेती है तो समस्त विद्युत क्षेत्र में काम बंद कर हड़ताल भी करना पड़े तो सभी विद्युत संगठन तैयार हैं।
                     बैठक में प्रदेश की विद्युत कम्पनियों में कार्यरत संगठन मध्यप्रदेश विद्युत कर्मचारी संघ फेडरेशन (इंटक), म.प्र. बिजली कर्मचारी महासंघ (बीएमएस), अभियंता संघ, डिप्लोमा इंजीनियर्स एसोसिएशन, पावर इंजीनियर एंड एंप्लाइज एसोसिएशन (पीईईए), तकनीकी कर्मचारी संघ, आरक्षित वर्ग अधिकारी कर्मचारी संघ, जनता यूनियन, विद्युत कर्मचारी पंचायत,बिजली कर्मचारी संघ पश्चिम क्षेत्र, विद्युत मंडल कर्मचारी युनियन, विद्युत अधिकारी कर्मचारी कल्याण संघ संविदा, बाह्य स्त्रोत विद्युत कर्मचारी संगठन, पेंशनर्स एसोसिएशन एवं अन्य सभी संगठन उपस्थित हुए। सभी ने ध्वनि मत से विद्युत क्षेत्र का निजीकरण का विरोध किया। शीघ्र ही मोर्चा द्वारा  मुख्यमंत्री, ऊर्जा मंत्री से बैठक कर मांगों के निराकरण का प्रयास किया जावेगा अन्यथा आगे की रणनीति तय  कर आंदोलन की भूमिका बनाई जाएगी

 


Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *