मन्दिर संस्कार व अनुशासन सीखाते हैं- आचार्य श्री रामानुजजी

7:49 pm or May 25, 2023

महावीर अग्रवाल

मंदसौर २५ मई ;अभी तक;  मंदिर का शिखर प्रतिष्ठा का प्रतीक होता है और शिखर पर लहराती पताका हमारी परंपराओं का प्रतिबिंब होती हैं। मंदिर देवस्थान तो है ही साथ ही हमें संस्कार और अनुशासन भी सिखाते हैं।
                          यह उद्गार सुप्रसिद्ध मानस मर्मज्ञ श्रीमद् भागवत और श्री राम कथा प्रवक्ता आचार्य श्री रामानुज जी ने अफीम गोदाम परिसर में श्री अमलेश्वर महादेव मंदिर के नव निर्माण के शुभारंभ के अवसर पर व्यक्त किए।  आपने कहा कि मंदिर में जब दर्शनार्थी दर्शन करते हैं तो ईश्वर में एकाकार हो जाते हैं। नाम, ऐश्वर्य और वैभव यह आकाश में बिजली की तरह क्षणिक रूप से चमकते हैं। स्थाई नहीं होते। श्रीअमलेश्वर महादेव का मंदिर मंदसौर नगर की प्राचीन गौरवशाली अस्मिता का प्रतीक है। इसके नव निर्माण के कार्य में हम सब संकल्प बंद होकर अपना योगदान देवें।

उन्होंने सुझाव दिया कि मंदिर में एक निर्माण निधि पेटी की स्थापना की जाए और जो भी यहां श्रद्धालु दर्शन करने के लिए आते हैं मंदिर निर्माण के लिए प्रतिमाह कम से कम ₹100 या अधिक अवश्य अर्पित करें।

सांसद सुधीर गुप्ता ने कहा कि सनातन परंपरा में मंदिरों का बड़ा महत्व है मंदिरों में एकत्र होकर एक दूसरे से जुड़ने का अवसर प्राप्त होता है। मंदिर में हमें ईश्वरीय सत्ता का आभास होता है। हमारे जीवन में जो संस्कार और मूल्य है वे मंदिरों की ही देन है।

सांसद श्री गुप्ता ने अमलेश्वर महादेव मंदिर के निर्माण में व्यक्तिगत रूप से 2 लाख 51हजार रु. प्रदान करने की घोषणा की ।

विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया ने कहा कि श्री अम्लेश्वर महादेव मंदिर से कई परिवारों के बुजुर्ग इसकी स्थापना के समय से जुड़े हैं और उन्हीं परिवारों के वंशज इस मंदिर को भव्य स्वरूप बदलने का संकल्प ले चुके हैं यह ईश्वर की बड़ी कृपा है। उन्होंने कहा कि सभी  श्रद्धालुओं का संकल्प पूरा होगा क्योंकि श्रद्धा संकल्प को सिद्ध करती है।श्री अमलेश्वर महादेव मंदिर का भव्य निर्माण होगा।आरंभ में स्वागत उद्बोधन देते हुए श्रीअमलेश्वर महादेव मंदिर ट्रस्ट  अध्यक्ष पं. गोपाल गुरु ने मंदिर के नव निर्माण की पूरी प्रायोजना प्रस्तुत की।
आचार्य श्री रामानुजजी , सांसद श्री सुधीर गुप्ता , खाटू श्याम ट्रस्ट अध्यक्ष शिवकरण प्रधान व अतिथियों ने भगवान श्री अमलेश्वर महादेव मंदिर गर्भ ग्रह में  पूजन दर्शन  करने के बाद नव निर्माण कार्य का वैदिक मंत्रोच्चार के साथ भूमि पूजन किया ।
इस अवसर पर मंदिर के पुजारी पं. सौरभ शर्मा का शाल और श्रीफल भेंट कर सम्मान किया गया। शुभारंभ अवसर ओर पूर्व में हुई बैठक सहित लगभग आठ लाख रु. सहयोग की घोषणा हुई लगभग 32 हजार रु नगद भी प्राप्त हुए।
आचार्य श्री का स्वागत मंदिर प्रबंध समिति के ट्रस्ट के अध्यक्ष पंडित गोपाल गुरु, सचिव सुरेश शर्मा, ट्रस्टी व वरिष्ट पत्रकार विक्रम विद्यार्थी, पंडित शिव करण प्रधान,पूर्व विधायक पुष्पा भारतीय,तथा सर्वश्री  कन्हैयालाल सोनगरा, मिलिंद जिलेवार ,विकास भंडारी सीए, कारूलाल  सोनी, डीएस चंद्रावत,मुकेश काला, महिला भजन मंडली की कलावती देवी, मंजुला पोरवाल, शांता देवी, विद्या उपाध्याय,अंजू तिवारी आदि ने किया इस अवसर पर नगर के गणमान्य जन बड़ी संख्या में सम्मिलित हुए जिनमें जनपद अध्यक्ष बसंत शर्मा वरिष्ट पत्रकार डॉ. घनश्याम बटवाल, रवि प्रताप बुंदेला, सूरजमल अग्रवाल चाचा,महेंद्र जोशी,गोपाल त्रिवेदी,अनिल कियावत,विनोद मेहता,राजेंद्र अग्रवाल, मदनलाल राठौर,महेंद्र जोशी,सुभाष गुप्ता,विरेंद्र पंडित,ललित बटवाल,सुरेंद्र कुमावत,कमलेश सोनी लाला,अरविंद सारस्वत, राजाराम तंवर, पं. अरुण शर्मा , गायत्री प्रसाद शर्मा नरेंद्र अग्रवाल ,दृष्टानंद नेनवानी,बंसीलाल टांक, डॉ. देवेंद्र पुराणिक, राजेंद्र चाष्टा,सुनील बंसल, महेश मोदी बंशीलाल राठौर , सुभाष गुप्ता, सुनील गुप्ता, अजीत जैन पार्षद तरुण शर्मा, गरिमा भाटी, पूर्व पार्षद सुरेश भावसार,नरेंद्र त्रिवेदी नरेंद्र सिंह चौहान ,रामशंकर शर्मा प्रकाश नॉवेल्टी  , सुनील कटलाना नीरज नीमें डॉ. आशीष अग्रवाल सहित अनेक श्रद्धालु उपस्थित थे।
इस मौके पर स्वतंत्रता सेनानी वरिष्ठ पत्रकार स्व . केशव प्रकाश विद्यार्थी स्मृति ग्रंथ ” अनासक्त कर्मयोगी ” आचार्य श्री रामानुजजी को सम्मान सहित भेंट किया ।अमलेश्वर मंदिर ट्रस्ट की ओर से सांसद सुधीर गुप्ता , अध्यक्ष पंडित गोपाल गुरु , शिवकरण प्रधान , रविप्रकाश सिंह बुंदेला सुरेश शर्मा ने आचार्य श्री रामानुज जी का शॉल श्रीफल से सम्मान किया और आशीर्वाद प्राप्त किया ।
कार्यक्रम संचालन जिला प्रेस क्लब अध्यक्ष ब्रजेश जोशी ने किया । आभार जीर्णोद्धार निर्माण समिति सदस्य कन्हैयालाल सोनगरा ने माना।