मप्र मानव अधिकार आयोग में मामला आने पर सेवानिवृत्त तहसीलदार को मिलेगी पेंशन और अन्य स्वत्वों की रकम

6:32 pm or July 29, 2022
महावीर अग्रवाल
मन्दसौर , भोपाल २९ जुलाई ;अभी तक;  मप्र मानव अधिकार आयोग में मामला आने पर एक सेवानिवृत्त तहसीलदार को उनकी पेंशन व अन्य दावा-स्वत्वों का आर्थिक लाभ मिल सकेगा।
                      मामला बुरहानपुर जिले का है, पर आवेदक ने अपने गृह जिले  शाजापुर जिले से आवेदन भेजा है। अतः आयोग के *प्रकरण क्रमांक 2135/शाजापुर/2019 के अनुसार* गली नं 3, शरदनगर, शाजापुर निवासी आवेदक (सेवानिवृत्त तहसीलदार) श्री टीकमचंद जैन ने आठ अप्रैल 2019 को आयोग में आवेदन लगाया कि उनकी सेवा पुस्तिका में अपूर्ण प्रविष्ठि एवं सेवा सत्यापन के अभाव में उनकी पेंशन का निर्धारण अबतक नहीं हो पाया है, साथ ही अन्य दावा-स्वत्वों का भुगतान भी नहीं मिल पाया है। चूंकि पेंशन न मिलने के कारण अत्यधिक आर्थिक परेशानियों का समाना करना पड़ रहा है, अतः उन्हें मासिक पेंशन व अन्य देय दावा-स्वत्वों का भुगतान अतिशीघ्र दिलाया जाये। आ
                  वेदन मिलते ही आयोग ने मामला दर्ज कर लिया है और कलेक्टर बुरहानपुर से रिपोर्ट मांगी। मामला काफी उलझा हुआ होने के कारण कलेक्टर बुरहानपुर ने यह प्रकरण प्रमुख राजस्व आयुक्त कार्यालय, भोपाल को भेज दिया। प्रमुख राजस्व आयुक्त कार्यालय ने 29 अप्रैल 2022 को सेवानिवृत्त तहसीलदार श्री टीकमचंद जैन की पेंशन व शेष सभी दावा-स्वत्वों का वित्तीय नियमानुसार भुगतान करने का आदेश जारी कर दिया। इस आदेश के परिप्रेक्ष्य में अब कलेक्टर, बुरहानपुर और शाजापुर के माध्यम से सेवानिवृत्त तहसीलदार को उनकी पेंशन व दावा-स्वत्वों का भुगतान जल्द ही मिल जायेगा। चूंकि सेवानिवृत्त तहसीलदार श्री जैन की शिकायत/समस्या का अंतिम समाधान हो गया है, अतः आयोग में भी यह मामला अब समाप्त कर दिया गया है।