महिला के साथ मारपीट करने वाले आरोपीगण को न्‍यायालय उठने तक की सजा

विधिक संवाददाता

सीहोर ११ अक्टूबर ;अभी तक;  न्‍यायिक मजिस्‍ट्रेट प्रथम श्रेणी आयुषी गुप्‍ता, आष्‍टा, जिला-सीहोर द्वारा अभियुक्‍तगण राजेन्‍द्र पिता धनसिंह परमार, अभय पिता धनसिंह परमार, धनसिंह पिता जगन्‍नाथ परमार, सुमनबाई पति धनसिंह परमार सभी नि. भटोनी तह. आष्‍टा जिला-सीहोर को धारा 323, 34 भादवि के अंतर्गत सश्रम कारावास व अर्थदण्‍ड से दण्डित किया गया।

सहायक जिला अभियोजन अधिकारी, रानी जैन द्वारा बताया गया कि फरियादी के द्वारा थाना आष्‍टा में रिपोर्ट लेख कराई कि दिनांक 04/10/2016 को सुबह 6.00 बजे करीब अभियुक्‍तगण राजेन्‍द्र, अभियसिंह, धनसिंह व सुमनबाई आये और फरियादिया को अश्‍लील गालियां देने लगे जब फरियादिया द्वारा गाली देने से मना किया तो सभी अभियुक्‍तगण ने फरियादिया के साथ डण्‍डे से मारपीट की जिसे फरियादिया चोट आईं। फरियादी की पु‍त्री सरोज ने बीच-बचाव किया। अभियुक्‍तगण ने जाते-जाते जान से मारने की धमकी दी। उक्त घटना की प्रथम सूचना रिपोर्ट थाना आष्‍टा में दर्ज कराई थी जिस पर अपराध क्रमांक 879/16 धारा 323, 294, 506, 34 भादवि में पंजीबद्ध कर विवेचना उपरांत अभियोग-पत्र माननीय न्‍यायालय के समक्ष प्रस्‍तुत किया गया।

माननीय न्‍यायिक मजिस्‍ट्रेट प्रथम श्रेणी आयुषी गुप्‍ता, आष्‍टा, जिला-सीहोर द्वारा अभियोजन की ओर से प्रस्‍तुत साक्षीगण की साक्ष्‍य एवं दस्‍तावेजों को विश्‍वसनीय मानते हुए अभियुक्‍तगण राजेन्‍द्र, अभय, धनसिंह व सुमनबाई सभी नि. भटोनी, थाना- आष्‍टा, जिला-सीहोर को धारा 323 भादवि के आरोप में प्रत्‍येक को न्‍यायालय उठने तक की सजा व 500-500 रूपये/– अर्थदण्‍ड से दण्डित किया गया।

शासन की ओर से पैरवी रानी जैन, सहायक जिला अभियोजन अधिकारी तह. आष्‍टा, सीहोर द्वारा की गई।

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *