माखनलाल चतुर्वेदी शासकीय महाविद्यालय,बाबई, जिला होषंगाबाद में राष्ट्रीय बेबीनार का आयोजन

7:18 pm or June 14, 2021
माखनलाल चतुर्वेदी शासकीय महाविद्यालय,बाबई, जिला होषंगाबाद में राष्ट्रीय बेबीनार का आयोजन
सौरभ तिवारी
होशंगाबाद १४ जून ;अभी तक;   श्री माखनलाल चतुर्वेदी शासकीय महाविद्यालय,बाबई, जिला होषंगाबाद में राष्ट्रीय बेबीनार का आयोजन किया गया। बेबीनार का विषय ‘‘संक्रमण कार्य में टेली मेडिसन की उपयोगिता’’ था। बेबीनार का उद्देष्य सभी को कोविड-19 प्रति जागरूक करने एवं आत्मविष्वास बढ़ाना है।
कार्यक्रम का शुभारंभ शासकीय  महाविद्यालय की प्राचार्य, डॉ. श्रीमती कामिनी जैन ने स्वागत भाषण द्वारा किया। उन्होने संक्रमण कार्य में टेली मेंिडसन का दैनिक जीवन मे क्या महत्व है बताया। उन्होने बताया कि टेली मेडिसन को सुदूर मैंदानिक चिकित्सा का अनुप्रयोग है जिसके अन्तर्गत चिकित्सा संबंधी परामर्ष टेलीफोन या इन्टरनेट के माध्यम से किया जाता है। कोरोनो काल मे टेली मेडिसन सर्विस लोगो के लिए मददगार सबित हो रही है। इसके लिए घर में ही समस्या का उपचार पा सकते है। डॉ. से फोन पर वीडियो कॉल के माध्यस से फेस टू फेस बात कर सकते है। यह सर्विस एक ऐसा लाइव सोर्स है जिस पर कोरोना की सही जानकारी देने के साथ-साथ समस्या का समाधान भी बताया जाता है। इसे लेपटॉप या मोबाईल के द्वारा उपयोग किया जा सकता है। ‘हैल्थ केयर एप’ पर यह सुविधा प्राप्त की जा सकती है। टेली मेडिसन सर्विस पर ऑनलाइन दवा खरीदने, प्लाजमा डोनर खोजने, निकट के अस्पतालों मे बेड की उपलब्धता के बारे मे सूचना प्राप्त करने के साथ-साथ हॉस्पिटलों के फोन नंबर भी प्राप्त कर सकते है। कोरोना महामारी के बीच अस्पताल में सामान्य मरीजों की भीड़ कम करने के लिए टेली मेडिसन की सुविधा शुरू हुई। साथ ही प्राचार्य ने होम आइसोलेषन गु्रप में जुड़े व्यक्तियों के अनुभवों को साझा किया।
कार्यक्रम का सफल संचालन बेबीनार की संचालक डॉ. अंजू अंसारी तथा आभार प्रदर्षन श्री अभिताभ शुक्ला द्वारा किया गया। बेबीनार के मुख्य वक्ता डॉ. विपुल श्रीवास्तव, प्रोफेसर भौतिकषास्त्र एवं रिसर्च इस्कालर लवली प्रोफेषनल यूनिवर्सिटी फगवाड़ा पंजाब ने अपने प्रजेन्टेषन में विस्तार से संक्रमण के प्रकार, बचाव, घरेलु सावधानी तथा टेली मेडिसन की उपयोगिता के बारे में जानकारी प्रदान की। उन्होने अपने उद्बोधन में महामारी पर प्रकाष डाला साथ ही महामारी के बारे में वैज्ञानिक जगत की क्या राय है बताया।
श्री कुलदीप हुड्डा ने अपने एवं अपने परिवार के व्यक्तिगत अनुभवों को बताया। उन्होने बताया कि मोबाईल एप द्वारा टेली मेडिसन का भरपूर लाभ लिया। बेबीरनार की अतिथि वक्ता सुश्री अर्चना शक्सेना एसोसिएट प्रोफेसर भौतिकषास्त्र विभाग एस.आई.आर.टी.ई. भोपाल में अपने प्रजेन्टेषन में टेली मेडिसन के इतिहास से लेकर उसके प्रसार की ओर दैनिक जीवन मे इसकी उपयोगिता को समझाया।