मामला जिला अभिभाषक संघ के अध्यक्ष को धमकी दिए जाने का-

अरुण त्रिपाठी
रतलाम,28 अक्टूबर ;अभी तक;  जिला अभिभाषक संघ के अध्यक्ष अभय शर्मा को इस्तीफा नहीं देने पर गोली मारने की धमकी देने ओर उपाध्यक्ष तथा सचिव को भी इस्तीफा देने के धमकी भरा पत्र मिलने के विरोध में अभिभाषकों ने गुरुवार को न्यायालय में काम नहीं किया| न्यायालीयन कार्य से दूर रहकर उन्होंने एसडीएम अभिषेक गेहलोत को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट लागू करने व अभिभाषकों की सुरक्षा की मांग की गई है।
                     कलेक्टर कार्यालय में संघ उपाध्यक्ष नीरज सक्सेना ने ज्ञापन का वाचन किया। अध्यक्ष अभय शर्मा व अन्य अभिभाषकों ने एसडीएम अभिषेक गेहलोत को ज्ञापन सौंपा। इसमें बताया गया कि 26 अक्टूबर को अभिभाषक संघ के अध्यक्ष अभय शर्मा को उनके चैंबर पर डाक द्वारा धमकी भरा लिफाफा मिला था। इसके पत्र में लिखा था अध्यक्ष अभय शर्मा कल तक अपने पद से इस्तीफा देगा, साथ में उपाध्यक्ष व सचिव भी इस्तीफा दे। पत्र में अभ्रद भाषा का उपयोग करते हुए यह भी था कि ऐसा न होने पर हम तुझे गोली मार देंगे। इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि गोली तुझे लगे या तेरे परिवार को। पत्र के अंत में वसीम नाम लिखा है। संघ अध्यक्ष द्वारा इसके बाद स्टेशन रोड थाने पर प्रकरण दर्ज कराया गया था।
                   ज्ञापन में कहा गया कि अभिभाषक संघ के पदाधिकारी संपूर्ण अभिभाषकगणों का प्रतिनिधित्व करते है। पदाधिकारियों पर इस्तीफे का दबाव डालना व गोली मारने की धमकी देना संपूर्ण अभिभाषक संघ पर दबाव डालने व भयभीत करने के समान है। यदि अभिभाषक संघ जैसी विशिष्ट संभ्रांत संस्था के पदाधिकारियों को इस प्रकार भयभीत किया जाएगा तो यह प्रशासन के लिए भी नि:संदेह गंभीर विचार का विषय है। अभिभाषकों द्वारा कई बार मध्यप्रदेश शासन से एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट लागू करने की मांग की गई व प्रशासन को ज्ञापन दिए गए लेकिन अभी तक एडवोकेट प्रोक्टेशन एक्ट अस्तित्व में नहीं आया है। इस कारण धमकी मिलना आम होता जा रहा है। जब तक एक्ट लागू नहीं किया जाता, तब तक प्रशासन द्वारा प्रत्येक अभिभाषक को उसकी व परिवार की सुरक्षा के लिए सुरक्षात्मक हथियार के रूप में रिवाल्वर का लायसेंस प्रदान किया जाए।शीघ्र ही एडवोक्ट प्रोटेक्शन एक्ट लागू करने के संबंध मे कार्यवाही भी की जाए।
                 अभिभाषक सुनील पारिख ने बताया इस अवसर पर अभिभाषक फतेहलाल कोठारी, सुभाष उपाध्याय,निर्मल कटारिया  शांतिलाल मालवीय, योगेश अधिकारी, रामपाल पाटीदार, अशोक शर्मा, सुनील जैन, योगेश शर्मा, प्रणय अोझा, सतीश पुरोहित, कमलेश पालीवाल, एसएन जोशी, देवेंद्र सरदाना, राजीव ऊबी, शीतल गेलड़ा, संतोष त्रिपाठी, हेमराज कसेड़िया, अभिवन उपाध्याय, रिजवान खोखर, राजकुमार मित्तल, चंद्रमोहन मेहता, अंजना रााणा, प्रीति सोलंकी, सुनीता वासनवाल, कृष्णा मीणा जितेंद्र शाह अशोक चाष्टया  राजेंद्र सिंह चौहान वीरेंद्र कुलकर्णी प्रदीप बदंवार रजनीश शर्मा विवेक उपाध्याय सहित बड़ी संख्या में अभिभाषकगण उपस्थित थे।