मामा भांजे ने मिलकर हत्या की, राज को छुपाए रखने का आरोप मौसा भी गिरफ्तार

भिंड से डॉक्टर रवि शर्मा

भिंड ४ जून ;अभी तक; भिंड जिले के मिहोना लहार थाना अंतर्गत थाना क्षेत्र के राजघाट पुलिया के पास 21 माह पूर्व की गई हत्या । शिक्षक की हत्या की वारदात का पुलिस ने खुलासा करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है । हालांकि उनमें से एक आरोपी की मौत हो चुकी है । शिक्षक के साथ लूट की वारदात किए जाने के दौरान डायल हंड्रेड को कॉल कर देने के कारण बदमाशों ने हत्या कर दी थी ।

जानकारी के अनुसार शिक्षक अनिल अग्निहोत्री निवासी मंगला देवी के पास लहार का शव 19 सितंबर को राजघाट की पुलिया पर पड़ा पाया गया था । पत्थर से कुचल उसकी हत्या की गई थी । उसके बाद से पुलिस अंधे क़त्ल की गुत्थी सुलझाने के प्रयास में थी लेकिन सुराग नहीं मिल पाने के कारण मामले से पर्दा नहीं उठ पा रहा था । अब पुलिस ने न सिर्फ मामले का पूरी तरह से खुलासा कर दिया बल्कि दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लूटी गई मोटरसाइकिल और मोबाइल भी पुलिस ने बरामद कर लिया है ।

इस तरह की थी हत्या

अनिल अग्निहोत्री अपनी बाइक से जयनगर जा रहे थे तभी रास्ते में प्रदीप दोहरे पुत्र राम चौधरी निवासी जिला उमरिया उनके भांजे कमलेश्वरी पुत्र भंवर सिंह दौरे निवासी चतुर्वेदी ने उन्हें रोककर लूट की थी । इस दौरान अनिल अग्निहोत्री ने डायल हंड्रेड को कॉल कर दिया तो दोनों ने मिलकर हत्या कर दी थी । लूट के बाद जीजा के घर रखी थी बाइक और सोने की जंजीर । वारदात के बाद आरोपी प्रदीप तोरे व कमलेश दौरे ने मोटरसाइकिल वह सोने की जंजीर अपने बहनोई राजू पुत्र मुन्नीलाल दोहरी निवासी बड़ोखर के घर पर रख दी थी जबकि लूटा गया मोबाइल के आधार पर ही पुलिस हत्या व लूट के आरोपियों तक पहुंच गई । जिया के घर पर ही फांसी लगाकर प्रदीप ने कर ली खुदकुशी पुलिस गिरफ्त में आने से पूर्व एक आरोपी प्रदीप द्वारे ने बड़ोखरी इससे अपने जीजा राजू दौरे के घर पर ही 1 साल पूर्व फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी हालांकि उक्त मामले की विवेचना लार थाना पुलिस द्वारा की जा रही है ।

पूर्व मंत्री ने की पुलिस दल को ₹10000 इनाम देने की घोषणा लहार विधायक पूर्व मंत्री डॉक्टर गोविंद सिंह ने अंधे कत्ल का खुलासा करने वाले निरीक्षक उदय भान सिंह यादव एसआई यतेंद्र सिंह हरेंद्र सिंह जिनेंद्र सिंह गुर्जर सूरज जाट उदयवीर आदि टीम के सदस्यों को 10000 के नाम की घोषणा की है