मारपीट करने वाले आरोपी को न्‍यायालय उठने तक का कारावास

विधिक संवाददाता 

सीहोर २९ अक्टूबर ;अभी तक;  न्‍यायिक मजिस्‍ट्रेट प्रथम श्रेणी श्री बॉबी सोनकर आष्‍टा, सीहोर द्वारा अभियुक्‍तगण शिवचरण पिता कन्‍हैयालाल, कन्‍हैयालाल पिता मुन्‍नालाल, सोरम उर्फ सरजु बाई पति‍ कन्‍हैयालाल, राजुबाई पति संतोष नि. हकीमाबाद बड़ली, तह. आष्‍टा जिला-सीहोर को  धारा 323 भादवि के आरोप में न्‍यायालय उठने तक का कारावास एवं अर्थदण्‍ड से दण्डित किया गया।

सहायक जिला अभियोजन अधिकारी, महेन्‍द्र सितोले द्वारा बताया गया कि फरियादिया ने थाना आकर रिपोर्ट किया कि फरियादिया जब के प्रसव के दौरान उसके बच्‍चे की मृत्‍यु हो गई थी इसी बात पर से लेकर अभियुक्‍तगण पति शिवचरण, सास सोरम बाई और मेरी दोरानी राजु बाई व ससुर कन्हैयालाल मेरे साथ गन्दी गन्दी गालीया दीं और फरियादिया के साथ डण्डे से मारपीट की जिससे उसे चोट आई थी। अभियुक्‍तगण ने फरियादिया को धमकी दी कि तूने मारने पीटने की बात किसी को बताई तो जान से खत्म कर देंगे । फरियादी की उक्‍त रिपोर्ट पर से थाना आष्टा में अपराध क्रमांक 365/2014 धारा 294, 323, 506 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना उपरांत अभियोग-पत्र न्‍यायालय में प्रस्‍तुत किया गया।

 न्‍यायिक मजिस्‍ट्रेट प्रथम श्रेणी बॉबी सोनकर आष्‍टा, जिला-सीहोर द्वारा अभियोजन की ओर से प्रस्‍तुत साक्षीगण की साक्ष्‍य एवं दस्‍तावेजों को विश्‍वसनीय मानते हुए अभियुक्‍तगण शिवचरण पिता कन्‍हैयालाल, कन्‍हैयालाल पिता मुन्‍नालाल, सोरम उर्फ सरजु बाई पति‍ कन्‍हैयालाल, राजुबाई पति संतोष नि. हकीमाबाद बड़ली, तह. आष्‍टा जिला-सीहोर को  धारा 323 भादवि के आरोप में प्रत्‍येक को न्‍यायालय उठने तक की सजा एवं 300-300/- रूपये अर्थदण्‍ड से दण्डित किया गया।

शासन की ओर से पैरवी महेन्‍द्र सितोले, सहायक जिला अभियोजन अधिकारी तह. आष्‍टा, सीहोर द्वारा की गई।