मासूम से छेड़छाड़ करने वाले आरोपी को 5 साल की सजा

मयंक भार्गव

बैतूल १४ सितम्बर ;अभी तक; एक सात वर्षीय मासूम बालिका के साथ बंद कमरे में छेड़छाड़ करने वाले आरोपी के खिलाफ दोष सिद्ध होने पर अनन्य विशेष न्यायालय पॉक्सो एक्ट के तहत 5 हजार के सश्रम कारावास एवं 11 सौ रुपए अर्थदण्ड की सजा सुनाई है। इस मामले में शासन की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता शशिकांत नागले द्वारा पैरवी की गई।

वरिष्ठ अधिवक्ता शशिकांत नागले ने बताया कि 15 जून 2016 को आठनेर थाना पहुंचकर पीडि़ता की माँ ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उसकी पुत्री के साथ आरोपी संतोष पिता भैयालाल लोखंडे (32) निवासी हिड़ली ने छेड़छाड़ की है।
पीडि़ता ने उसकी माँ को बताया था कि वह खेल रही थी तभी आरोपी ने उसे कमरे में बंद कर दिया और उसके साथ छेड़छाड़ करने लगा। इस मामले में आठनेर थाने में धारा 342 के तहत मामला दर्ज कर विवेचना उपरांत प्रकरण न्यायालय में प्रस्तुत किया। न्यायालय में मामला दोषसिद्ध होने पर आरोपी संतोष लोखंडे के खिलाफ धारा 342 में एक साल का कठोर कारावास एवं 100 रु. अर्थदण्ड, धारा 9 (एम)/पॉक्सो एक्ट में 5 साल का कठोर कारावास एवं 500 रुपए जुर्माना, धारा 3 (1) (ब)(1) एवं (2) अजा और अजजा अधिनियम में 5 साल का साधरण कारावास एवं 500 रु. जुर्माने से दंडित किया।