मीडिया कवरेज के लिए कर रहा सोषल मीडिया का उपयोग, रिसॉर्ट में युवती की हत्या करने वाला आरोपी बना चुनौती

8:37 pm or November 12, 2022

 सिद्धार्थ पांडेय 

 जबलपुर १२ नवंबर ;अभी तक;  मेखला रिसोर्ट के कमरे में युवती की हत्या करने वाला प्रेमी युवक पुलिस गिरफत से दूर है। आरोपी युवक ने हत्या के बाद बनाया गया वीडियों सहित अन्य फोटो व वीडियों सोषल मीडिया में वायरल किया है। पुलिस की आधा दर्जन टीम आरोपी की तलाष में जुटी हुई है। वारदात के पांच दिन बाद भी आरोपी पुलिस गिरफत से बाहर है।

  युवक द्वारा वायरल वीडियों में युवती रक्त रंजित अवस्थ में पलंग में पडी हुई थी और अंतिम सांस गिन रही थी।  पलंग व बैड में खून फैला हुआ था और युवक रजाई उठाते हुए लडकी का चेहरा दिखाता है और कहता है कि बेवफाई नहीं करने का…….। दूसरे वायरल वीडियों में लडका अपना नाम अभिजीत पाटीदार निवासी पटना बता रहा है। युवती की हत्या करना कबूल करते हुए कह रहा है कि वह तेल व षक्कर का व्यापारी है। व्यापार में जितेन्द्र उसका पार्टनर है और युवती से दोनो के प्रेम संबंध थे। युवती उसके पार्टनर के 10-20 लाख रूपये लेकर जबलपुर भाग  गयी थी। पार्टनर के कहने पर ही उसने युवती की हत्या की है। युवक द्वारा एक पोस्ट की गयी है,जिसमें वह मृतिक से माफी मांगते हुए स्वर्ग में मिलने की बात कह रहा है। इसके अलावा उसने अन्य फोटो भी वायरल कर रहा है।

 अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण एस एस बघेल से प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपी युवक मीडिया कवरेज के लिए सोषल मीडिया को उपयोग कर रहा है। युवक मीडिया की खबर को देख रहा है और मृतिक के इंट्राग्राम का उपयोग कर रहा है। युवक की गिरफतारी के लिए पुलिस की आधा दर्जन टीम लगी हुई है और उसे षीध्र गिरफतार कर लिया जायेगा।

गौरतलब है कि घाना स्थित मेखला रिसॉर्ट में रविवार को एक प्रेमी युगल आकर रूके थे। युवक ने आईडी के रूप में अभिजीत पाटीदार निवासी गुजरात का आधार कार्ड दिया था। मंगलवार की दोपहर को युवती की लाष रिसॉर्ट के कमरे में मिली थी। हाथ की कलाई की नस कटी हुई थी और गले में गंभीर चोट के निशान थे। युवती के पास रखे बैग की जांच करने पर आधार कार्ड मिला,जिससे उसका नाम रेखा था।

आधार कार्ड के आधार पर षिनाख्त के लिए उसकी बुआ को बुलाया गया था। जिन्होने फोटो देखकर मृतिक के भतीजी होने से इंकार कर दिया है। जांच में पाया गया कि युवती का आईडी कार्ड फर्जी था। युवती की षिनाख्त कुंडम निवासी षिल्पी झारिया उर्फ षिल्पी मिश्रा के रूप में हुई थी।