मुख्यमंत्री द्वारा वर्चुली हार्टफुलनेस हरित वन का शुभारंभ ,7500 पौधों का रोपण किया

8:34 pm or September 18, 2022

अरुण त्रिपाठी

रतलाम ,18 सितंबर  अभीतक | विश्व के एक बड़े आध्यात्मिक संगठन श्री राम चंद्र मिशन के तत्वाधान में जावरा के समीपस्थ ग्राम सोहनगढ़ में फॉरेस्ट बाय हार्टफुलनेस के माध्यम से पुलिस विभाग की 24 वीं बटालियन के साथ व्यापक स्तर पर 6 हेक्टेयर बंजर पहाड़ी पर वृक्षारोपण किया जाएगा | इस वृहद आंदोलन का शुभारंभ परम पूज्य गुरुदेव श्री कमलेश पटेल के सानिध्य में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा वर्चुली किया गया|
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने उद्बोधन में मध्य प्रदेश के प्रति विशेष स्नेह के लिए पूज्य गुरुदेव के प्रति साधुवाद देते हुए स्वयं बार-बार आकर वृक्षारोपण करने की इच्छा व्यक्त की गई | इस कार्यक्रम में कुल 30,000 वृक्षारोपण किया जाना है , जिसमें से लगभग 7500 पौधों का रोपण किया गया| इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के साथ पुलिस विभाग के एडीजी,आईजी,डीआईजी और रतलाम जिले के कलेक्टर पुलिस अधीक्षक एवं जावरा के 24 वीं बटालियन के कमांडेंट,जावरा एसडीएम, सीएसपी, जनपद सीईओ जुड़े थे | कार्य व्यवस्था में बटालियन की सहायक सेनानी बिंदु परमार एवं कंपनी कमांडर यशपाल जी  सहित समस्त स्टाफ एवं हार्ट इंस्टीट्यूट के सभी सदस्यों का सक्रिय  सहयोग रहा
                           वृक्षारोपण एवं कैंपस के विकास के लिए हार्टफूलनेस इंस्टीट्यूट वैश्विक मुख्यालय हैदराबाद से विशेषज्ञ डॉक्टर सर्वानंद सुब्रमण्यम, संगीत जी तथा इंदौर से अशोक भार्गव उपस्थित रहे| इस विशाल कार्यक्रम में स्थानीय संस्थाओं सेंट पॉल कॉन्वेंट झाला एकेडमी भारतीय जनता युवा मोर्चा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर्यावरण सांस्कृतिक एवं ग्राम उत्थान संस्था रावटी जेनिथ पब्लिक स्कूल सोहनगढ़ की उपस्थिति भी रही |हार्टफुलनेस इंस्टिट्यूट के इंदौर उज्जैन रतलाम खाचरोद मंदसौर व नीमच केंद्र के अभ्यासीयो द्वारा पौधारोपण किया गया | इस पूरे प्रोजेक्ट के लिए मध्य प्रदेश पुलिस डीआईजी श्रीमती रुचिवर्धन मिश्र की महत्वपूर्ण भूमिका रही | इस 6 हेक्टेयर भूमि पर गहन वन के साथ-साथ एक योग व ध्यान केंद्र एक डोम तथा एक रिट्रीट सेंटर विकसित किया जाएगा | इन सभी स्ट्रक्चर के लिए मात्र प्राकृतिक उत्पादों बास घास आदि का उपयोग किया जाएगा किसी भी प्रकार का रासायनिक सीमेंट सरिया आदि का उपयोग नहीं होगा|