मुख्यमंत्री मंदसौर जिले में न केवल कोविड बल्कि नान कोविड बेसहारा बच्चों के लिए दानदाताओं के सहयोग की प्रशंसा की”

महावीर अग्रवाल
मंदसौर १३ जून ;अभी तक;  कलेक्ट्रेट कार्यालय में एनआईसी के माध्यम से मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मंदसौर के वरिष्ठ लोकप्रिय विधायक श्री यशपाल सिंह सिसोदिया ने जिला प्रशासन एवं जनप्रतिनिधियों, समाजसेवी, स्वयंसेवी संगठनों तथा दानदाताओं के द्वारा किए जा रहे कार्यों का विवरण प्रस्तुत किया तथा बताया कि जिले में कोरोनावायरस की बीमारी से मृत माता पिता के बेसहारा बच्चों के लिए तो शासन के निर्देश पर कार्य सम्पादित किया ही जा रहा है साथ ही मंदसौर के दानदाताओं ने आगे बढ़कर ऐसे बच्चों के लिए भी मदद का हाथ बढ़ाया है जो कोविड महामारी से पहले से भी बेसहारा हैं ऐसे बच्चों की सूची बनाई जा रही है तथा प्रत्येक बच्चों को 2 हजार रुपए की राशि प्रतिमाह उनके खाते में डाली जाएगी।
 श्री सिसोदिया ने बताया कि इस हेतु लगभग 35 लाख रुपए की राशि इस पुनीत कार्य के लिए दानदाताओं से प्राप्त होगी चुकी हैं। श्री सिसौदिया ने बताया कि जिला प्रशासन ने ग्राम पंचायत, नगर पालिका, जनपद पंचायत की स्थानीय आपदा प्रबंधन समिति की बैठकों के दिन तय कर लिए हैं जो निश्चित दिन स्थानीय स्तर पर बैठकों का आयोजन करेंगे।
 श्री सिसोदिया ने बताया कि खुले में निवास करने वाले लोगों को वैक्सीन लगाए जाने का काम किया जाएगा इसे हेतु गाडोलिया लोहार समाज, साठिया समाज, पाडदी समाज को चिन्हित किया गया है। श्री सिसौदिया ने यह भी बताया कि आगामी अक्टूबर माह तक मंदसौर जिले में 2 लाख पौधों को जीवित रखने का लक्ष्य तय किया गया हैं, सामाजिक एवं स्वयंसेवी संगठनों के माध्यम से तथा जनप्रतिनिधियों की भूमिका से वृक्षारोपण किए जाने का कोई लक्ष नहीं है चाहे जितने लगाएं जाएं लेकिन लगभग 2 लाख पौधे जीवित रखें जाएंगे इसकी कार्य योजना बनाई जा रही है।
 श्री सिसोदिया ने यह भी बताया कि जिला चिकित्सालय मंदसौर में विधायक निधि एवं दानदाता उद्योगपति श्री प्रदीप गनेड़ीवाल के सहयोग से 50 लाख रुपए की राशि से आरटी पीसीआर मशीन की लैब बनकर लगभग तैयार हो गई हैं अनुमति प्राप्त होते ही मंदसौर और नीमच जिले के प्रतिदिन 400 कोरोना टेस्ट होना प्रारंभ हो जाएंगे, श्री सिसोदिया ने यह भी बताया कि जिला चिकित्सालय में तिसरी लहर की संभावना को देखते हुए बच्चों का 100 पलंगों की क्षमता का आईसीयू तैयार किए जाने की कार्य योजना बनाकर कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। वीडियो कांफ्रेंसिंग में कोरोना को लेकर जो गाइडलाइन बनी है उसका पूरी तरह से पालन किया जायेगा इस बात को वीडियो कांफ्रेंसिंग   के माध्यम से रखा गया।
 बैठक में कलेक्टर श्री मनोज पुष्प, पुलिस अधीक्षक श्री सिद्धार्थ चौधरी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएन राठौर उपस्थित थे।