मुरैना नगर निगम पर कांग्रेस का कब्जा,बीजेपी के तोमर, सिंधिया और शिवराज की सभाएं रहीं बेअसर

3:10 pm or July 21, 2022

देवेश शर्मा

मुरैना. 21 जुलाई ;अभी तक; मधयप्रदेश में दूसरे चरण में हुए नगरीय निकाय चुनावों की मतगणना  बाद मुरैना नगर निगम से कांग्रेस प्रत्याशी शारदा सोलंकी चुनी गई हैं। केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के गढ़ मुरैना में भाजपा को बड़ा झटका मिला है। कांग्रेस प्रत्याशी शारदा सोलंकी ने भाजपा की मीना मुकेश जाटव को 14 हजार से ज्यादा वोटों से शिकस्त दी है। बता दें कि मुरैना के नगर निगम बनने के बाद महापौर का ये दूसरा कार्यकाल होगा पहली बार में बीजेपी ने जीत दर्ज की थी और 5 बार के सांसद अशोकअर्गल महापौर बने थे।

कांग्रेस प्रत्याशी शारदा सोलंकी ने आज ,कहा कि उनका एक ही एजेंडा होगा शहर का विकास ।उन्होंने कहा कि 2023 के स्ववच्छता सर्वेक्षण में मुरैना कोअंंं डरर 100 शहरों में लाना उनकी प्राााथमिकेता मैं शामिल होगा।सीवर सिस्टम को अपडेट किया जावेगा।शहर को गड्डोों मुक्त कराया जावेगा।उन्होंने कहा कि नगर निगम का नया बोर्ड गठित होंने के बादवे शहर के हर मुहल्ले में चौपाल लगाएँगी।इसमें मेंयर,निगमायुक्त ,पार्षद से लेकर वार्ड अधिकारी मौजूद रहेेंें।उल्लेखनीय है कि  निगम में कांग्रेस के 19 बीजेपी के 15 और बसपा के 8 व तीन निर्दलीय प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है वहीं 1 वार्ड में सपा और एक वार्ड में आम आदमी पार्टी के पार्षद को जीत हासिल हुई है।

बता दें कि मुरैना नगर निगम के महापौर का चुनाव बीजेपी के लिए साख का सवाल माना जा रहा था। केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के प्रभाव वाली इस सीट पर खुद नरेन्द्र सिंह तोमर, केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने चुनाव प्रचार कर बीजेपी के समर्थन में वोट मांगे थे। हालांकि तीनों दिग्गज नेताओं की एकजुटता यहां पर बेअसर नजर आई और बीजेपी के किले में कांग्रेस सेंध लगाने में कामयाब रही। वहीं अगर कांग्रेस की बात करें तो पूर्व सीएम और पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ, नेता प्रतिपक्ष गोविंद सिंह और पूर्व मंत्री व मौजूदा विधायक जयवर्धन सिंह ने यहां पर कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार किया था।