मुरैना में बाघ के घूमने से दहशत

देवेश शर्मा 

मुरैना 21 नबम्बर ;अभी तक; शुक्रवार की सुबह जिले के चम्बल किनारे बसे गांवसरसेनी बबनपुरा गांव में खेत पर काम कर रहे लोगों ने बाघ दिखने का दावा किया. ग्रामीणों का कहना है कि, बाघ गांव की तरफ आ रहा था, लेकिन वहां पर मौजूद गांव वालों ने लाठी-डंडे दिखाकर और शोर कर उसे भगा दिया. जिसके बाद बाघ सती माता मंदिर के पास मुख्य सड़क किनारे दिखाई दिया.

लोगों ने बनाया वीडियो

मुरैना के वन मंडल अधिकारी ने आज दूरभाष पर बताया कि कल कुछ राहगीरों ने बाघ के वीडियो मोबाइल से बनाए और इस दौरान बाघ बीहड़ की ओर भागता दिखा. गांव के पास चंबल नदी के बीहड़ का किनारा है,।उन्होंने बताया कि उक्त वीडियो धुंदला होने से स्प्ष्ट समझ नहीं रह है। आशंका जताई जा रही है कि, बाघ बीहड़ की तरफ भागा है.उन्होंने बताया कि  वन विभाग की रेस्क्यू टीम उसके पद चिन्हों के आधार पर पता लगा रही है कि, जंगली जानवर असल में बाघ ही था या तेंदुआ. लेकिन ग्रामीणों का दावा है कि, वो बाघ ही था.

कूनो सेंचुरी से बाघ आने की आशंका

ये भी आशंका जताई जा रही है कि, ये बाघ राजस्थान के रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान या फिर श्योपुर के कूनो सेंचुरी से यहां आ गया है. श्योपुर की कूनों सेंचुरी में राजस्थान की रणथंभौर नेशनल पार्क से आया एक बाघ करीब 10 साल से डेरा जगाए हुए है.

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *