मुश्किल की घड़ी में मुख्यमंत्री कोविड बाल कल्याण योजना बनी सहारा

रवि शर्मा

भिण्ड 15 जून ;अभी तक;  माता-पिता दोनों की असमय मृत्यु के बाद भिण्ड जिले के ररी गाँव लहार तहसील के राहुल, रितेश ओर खुशी के जीवन में छाये अंधेरे में मुख्यमंत्री कोविड बाल कल्याण योजना बनी सहारा। राहुल, रितेश एवं खुशी को योजना के हितग्राही के रूप में एसडीएम लहार श्री आरए प्रजापति एवं महिला एवं बाल विकास विभाग के सीडीपीओ अजय देव जाटव द्वारा बच्चों की संरक्षक उनकी दादी श्रीमती अजानो देवी को योजना अंतर्गत स्वीकृति पत्रक प्रदान किया। बच्चों  के पिता श्री छक्कती लाल की कोरोना काल में मृत्यु हो गयी थी, बच्चों की माँ का पूर्व में ही निधन हो चुका है। ऐसे में बच्चों के भरण-पोषण की समस्या सामने आ खड़ी हुई।

इस कठिन घड़ी में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा घोषित मुख्यमंत्री कोविड बाल कल्याण योजना बच्चों के भविष्य का सहारा बनकर सामने आई। बच्चों में सबसे बड़े राहुल का कहना है कि मामा मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उनके  जीवन में आगे बढ़ने की राह बनायी है। अब वह अपने माता-पिता के सपनों को पूरा करेंगे। जिला स्तरीय समिति ने बच्चों का प्रकरण स्वीकृत कर श्रीमती अजानो देवी को संरक्षक के रूप में चिन्हित किया है। योजना में बच्चों  को 5 हजार रूपये प्रति माह की पेंशन राशि के साथ संरक्षक को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत निःशुल्क खाद्यान्न प्रदाय किया जायेगा। इतना ही नहीं बच्चों की पढ़ाई-लिखाई की व्यवस्था भी शासन द्वारा निःशुल्क की जायेगी।

योजना में परिवार से अभिप्राय पति-पत्नी और उन पर आश्रित बच्चों से है। बाल हितग्राही से अभिप्राय है ऐसे बालक, बालिका जिनकी आयु 21 वर्ष या उससे कम है, परंतु स्नातक में अध्ययनरत रहने की स्थिति में, 24 वर्ष या स्नातक पाठ्यक्रम की निर्धारित अवधि तक इनमें से जो भी कम हो और जिनके माता-पिता की कोविड-19 से मृत्यु हुई हो या माता-पिता का निधन पूर्व में हो गया था तथा उनके वैध अभिभावक की कोविड-19 से मृत्यु हुई हो या माता-पिता में से किसी एक का पूर्व में निधन हो चुका है तथा अब दूसरे की कोविड -19 से मृत्यु हुई है। ’’कोविड-19 से मृत्यु’’ का अभिप्राय ऐसी किसी भी मृत्यु से है, जो 1 मार्च, 2021 से 30 जून, 2021 तक की अवधि में हुई। 18 वर्ष से कम आयु के बाल हितग्राही के मामले में संरक्षक का चिन्हांकन योजना के अंतर्गत कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित समिति द्वारा किया।