मेल- एक्सप्रेस के किराए के साथ शुरू होगी पैसेन्जर ट्रेन

मयंक भार्गव

बैतूल १४ अक्टूबर ;अभी तक;  कोविड संक्रमण काल के दौरान विगत वर्ष मार्च माह से बंद पैसेंजर ट्रेनों को शुरू करवाने की कवायद शुरू हो चुकी है। इस समाचार से नागरिकों को खुशी मिलने के साथ ही एक बुरी खबर यह भी है कि अब पैसेन्जर ट्रेनों में भी मेल एक्सप्रेस का किराया अदा करना होगा। पैसेन्जर ट्रेन में यात्रा करने जनरल टिकिट की बिक्री भी शुरू हो जाएगी। जिससे नागरिक यात्रा के पूर्व ही टिकिट विण्डो से टिकिट खरीदकर यात्रा कर सकेंगे। रेलवे द्वारा सभी स्टेशनों पर विगत लगभग 19 महीने से बंद जनरल टिकिट विण्डो की साफ-सफाई और कम्प्यूटर शुरू किए जा रहे है। हालांकि रेलवे से अभी इस प्रकार के कोई भी आर्डर नहीं आए है लेकिन विश्वस्त सूत्रों के अनुसार रेलवे द्वारा अगले एक सप्ताह के अंदर ही पैसेन्जर ट्रेनों को चलाने की घोषण कर सकती है।

19 माह से बंद है पैसेन्जर ट्रेनें

देश में पिछले साल मार्च 2020 में कोविड संक्रमण के चलते रेलवे द्वारा सभी यात्री ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया था। इसके बाद कोविड से राहत मिलने पर कोविड दिशा निर्देशों को लागू करते हुए मेल एक्सप्रेस और सुपरफास्ट ट्रेने तो शुरू कर दी थी लेकिन अभी तक पेसेन्जर ट्रेन शुरू नहीं की थी। मेल एक्सप्रेस ट्रेनों के लिए भी जनरल टिकिट की बिक्री शुरू नहीं की थी। जनरल बोगी में यात्रा करने के लिए भी आरक्षण करवाना पड़ रहा है। मार्च 2020 के बंद पेसेन्जर ट्रेनों को 19 माह बाद एक बार फिर शुरू करने की कवायद शुरू हो गई है।

शुरू हो सकती है 6 पेसेन्जर

रेलवे सूत्रों के अनुसार शुरूवात में रेलवे द्वारा प्रत्येक खंड में कम से कम एक पेसेन्जर ट्रेन शुरू करने की योजना बनाई जा रही है। ताकि देश के सभी स्टेशनों पर ट्रेनों का संचालन शुरू किया जा सके। यदि ऐसा हुआ तो बैतूल जिले में तीन पैसेन्जर ट्रेनें शुरू हो सकती है। सूत्रों के अनुसार जिले में तीन पैसेन्जर ट्रेन शुरू होगी जिसमें आमला से छिंदवाड़ा, आमला से इटारसी, आमला से नागपुर, छिंदवाड़ा से आमला, इटारसी से आमला और नागपुर से आमला के बीच पहले चरण में पेसेन्जर ट्रेन चलेगी जिससे जिले के सभी स्टेशनों पर ट्रेनों का संचालन शुरू हो जाएगा।

मेल एक्सप्रेस ट्रेनों का लगेगा किराया

सूत्रों के अनुसार कोविड काल के बाद शुरू होने वाली पेसेन्जर ट्रेनों में पूर्व में लगने वाले कम किराया के बदले मेल एक्सप्रेस ट्रेनों का किराया लगेगा। हालांकि इसी अधिकृत घोषणा नहीं की गई लेकिन सूत्रों के अनुसार पैसेन्जर ट्रेनों में मेल एक्सप्रेस ट्रेनों का ही किराया लगेगा। हालांकि इन ट्रेनों में भले ही किराया मेल एक्सप्रेस का लगेगा लेकिन इन ट्रेन का स्टापेज पैसेन्जर ट्रेन की तरह सभी स्टेशन पर रहेगा। पेसेन्जर ट्रेन शुरू होने के बाद इन ट्रेनों में यात्रा करने जनरल टिकिट की बिक्री शुरू हो जाएगी। लेकिन किराया मेल एक्सप्रेस टिकिट का ही लगेगा।

स्टेशनों पर शुरू हुई कवायद
रेलवे द्वारा अभी तक इस संबंध में किसी प्रकार के आदेश नहीं दिए गए है लेकिन जिले के सभी स्टेशन में जनरल टिकिट विण्डो की साफ-सफाई में जनरल मशीने दुरूस्त की जा रही है। ट्रेनों का संचालन बंद होने से विगत 19 माह से बंद टिकिट मशीनों और कम्प्यूटर को चालू किया जा रहा है जिससे शार्ट नोटिस पर भी ट्रेनों का संचालन शुरू किया जा सके।

30 रूपए है मेल एक्सप्रेस का न्यूनतम किराया

सूत्रों के अनुसार पेसेन्जर ट्रेनों में मेल- एक्सप्रेस ट्रेनों का किराया लगेगा। वर्तमान में मेल एक्सप्रेस ट्रेन का न्यूनतम किराया 30 रूपए है। यात्री को बैतूल से मलकापुर या मरामझिरी तक की भी यात्रा करनी होगी तो उसे 30 रूपए की टिकिट लेनी होगी। वर्तमान में मेल एक्सप्रेस ट्रेन का किराया से 50 किलोमीटर तक 30 रूपए, 51 से 60 किलोमीटर तक 35 रूपए, 61 से 70 किलोमीटर तक 40, 71 से 85 किलोमीटर तक 45 रूपए, 86 से 105 किलोमीटर तक 50 रूपए और 106 से 120 किलोमीटर तक 55 रूपए निर्धारित है। अब पेसेन्जर ट्रेनों में भी इसी हिसाब से किराया चुकाना पड़ सकता है।

मेल- एक्सप्रेस बन सकती है लंबी दूरी की पैसेन्जर

कोविड काल के पूर्व चलने वाली लंबी दूरी की पैसेन्जर ट्रेनों को फिलहाल शुरू नहीं किया जा रहा है। सूत्रों के अनुसार लंबी दूरी की पैसेन्जर ट्रेनों को मेल एक्सप्रेस बनाकर शुरू किया जा सकता है। ऐसे में बैतूल से चलने वाली छिंदवाड़ा इंदौर पंचवेली पेसेन्जर और नागपुर- इटारसी- आगरा पेसेन्जर को मेल एक्सप्रेस ट्रेन में बदलकर शुरू किया जा सकता है।

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *