मोदी सरकार गरीब किसान मजदूर हरिजन आदिवासी सर्वहारा वर्ग की विरोधी ; दिग्विजय

मयंक शर्मा
खंडवा २४ अक्टूबर ;अभी तक;  खंडवा लोकसभा उपचुनाव में पहली चुनावी सभा करने यहां आए पूर्व
मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि मोदी सरकार गरीब किसान मजदूर हरिजन
आदिवासी सर्वहारा वर्ग की विरोधी है।ें गरीबों से  टैक्स लेकर
उद्योगपतियों को राहत दे रही है। कोरोना की मुफ्त वैक्सीन के नाम पर
केंद्र सरकार ने 20 हजार करोड रुपए खर्च किए, लेकिन दूसरी तरफ डीजल
पेट्रोल से सवा लाख करोड़ रुपए जनता की जेब से वसूल किए हैं। खाने का तेल
महंगा कर दिया। किसानों ने 12 हजार रुपए क्विंटल में सोयाबीन का बीज
खरीदा और सरकार 4 हजार क्विंटल में खरीद रही है। अब सोयाबीन का सीजन आया
तो मोदी सरकार ने विदेश से खाने का तेल आयातित कर लिया, ताकि देश के
व्यापारी सस्ते दामों में किसानों से सोयाबीन खरीद सकें।
             उन्होने  कागज  नगरी नेपानगर में रविवार को कांग्रेस प्रत्याशी राजनारायणसिंह के समर्थन
में  चुनावी सभा में केंद्र और राज्य सरकार पर निशाना साधा।दिग्विजयसिंह
ने कहा कि मोदी जी कहते हैं कि कांग्रेस ने कुछ नहीं किया। अरे मोदी जी
70 साल में कांग्रेस ने कुछ नहीं किया, तो आप बेचते क्या। देखो, घर में
अगर एक भी कपूत पैदा हो जाता है तो बाप-दादाओं के जेवर बेचकर खत्म कर
देता है। एक कपूत प्राइम मिनिस्टर बन गया, जो कांग्रेस की 70 साल की कमाई
बेचने में लगा है।
                 श्री सिंह ने  भाजपा को बडा ठग बताया। कहा कि महंगाई के कारण किसान,
दलित, आदिवासी और हर वर्ग का गरीब ठगा जा रहा है। मोदी-शाह और ‘मामू’
छुट्‌टा सांड हो गए हैं। इस उपचुनाव में उन पर नकेल कसने की जरूरत है।
दिग्विजय ने अरुण यादव की दावेदारी छोड़ने को उनका पारिवारिक कारण बताया।
वहीं, नंदकुमारसिंह की तारीफ कर इमोशनल कार्ड खेला।
                 उन्होने सीएम े शिवराज पर आरोप लगाते हुए कहा कि, मामू ने अफसरों को
एजेंट बनाकर रख दिया है। इनसे दलाली करवाकर शिवराज पैसा कमा रहे है।
वसूली आम लोगों पर अत्याचार करने वाले माफिया से करते है। दिग्विजयसिंह
ने कहा कि, कमलनाथ सरकार ने इंदिरा सागर बांध से खंडवा के आदिवासी
बाहुल्य गांवों को पानी देने के लिए लिफ्ट इरिगेशन का प्लान बनाया था
ताकि, 84 गांवों की जमीनें सिंचित हो सकें। लेकिन शिवराजसिंह चैहान सरकार
ने उसे अभी तक अमलीजामा नहीं पहनाया है।
              दिग्विजयसिंह ने पूर्व सांसद स्व. नंदकुमारसिंह चैहान की सराहना की जिनके
निधन से रिक्त खंडवा संसदीय सीट पर यी उपचुनाव हो रहा है। उन्होने कहा
कि, जब वे मुख्यमंत्री और राजनारायणसिंह मांधाता विधायक थे तब नंदकुमार
सांसद थे। इंदिरा सागर के डूब प्रभावितों को मुआवजा देने की बारी थी, तब
नंदकुमार ने नुकसानी की रिपोर्ट सरकार को दी थी। उन्होंने रिपोर्ट के
मुताबिक, शत-प्रतिशत मुआवजा दिलाने की मांग रखी। हमने उनकी रिपोर्ट से
सवा गुना मुआवजा दिया। तब पुरनी में एक सभा के दौरान नंदकुमारसिंह ने
मेरे पैर छूकर आभार व्यक्त किया। उन्होंने पैर छूने का वादा किया था।