मौला-मौला आका मौला से गूंजा रतलाम स्टेशन धर्म गुरु को सामने देख आंसू नहीं रोक पाए बोहरा समाजजन

अरुण त्रिपाठी

रतलाम, १० नवंबर ;अभी तक; मंगलवार रात रतलाम स्टेशन परिसर मौला-मौला आका मौला से गूंज उठा | अवसर था बोहरा समाज के 53वें धर्मगुरु आली कदर सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन साहब के कदम रखने का | वे ट्रैन से सूरत जाते समय कुछ मिनट रतलाम रेलवे स्टेशन पर रुके और समाजजनो को जल्द रतलाम आने का भरोसा दिलाया | धर्म गुरु के दीदार के लिए हजारों की संख्या में स्टेशन पहुंचे बोहरा समाजजन आका मौला को देख ख़ुशी के आंसू रोक नहीं सके।

समाज प्रवक्ता सलीम आरिफ ने बताया कि धर्म गुरु के दीदार के लिए  समाजजन स्टेशन पर प्लेटफॉर्म लेकर पहुंचे।ट्रेन से धर्मगुरु के रवाना होने के तत्काल बाद समाजजनों ने स्वच्छता का संदेश देते हुए स्टेशन परिसर को साफ कर दिया।सैयदना साहब 5 से 9 नवंबर तक मंदसौर जिले के भानपुरा, शामगढ़, सुवासरा व सीतामऊ में प्रवास कर मंगलवार को चौमेहला स्टेशन से सूरत जाने के लिए रवाना हुए थे। रतलाम के समाजजनों ने जयपुर-मुंबई ट्रैन से बाहर आते ही उनके दीदार किए। चारों आमिल साहब के साथ चारों जमात के सेक्रेटरी द्वारा सैयदना साहब का स्वागत किया गया।