म.प्र. अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चे के आंदोलन के द्वितीय  चरण में  ज्ञापन सौंपा

6:24 pm or October 8, 2021
म.प्र. अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चे के आंदोलन के द्वितीय  चरण में  ज्ञापन सौंपा।
श्याम त्रिवेदी।
झाबुआ 8 अक्टूबर ;अभी तक;   म.प्र. अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चे के आव्हान पर द्वितीय चरण के आन्दोलन के तहत आज अपनी न्यायोचित मांगो को लेकर प्रदेश के अधिकारी / कर्मचारी  समस्त मान्यता एवं गैर मान्यता प्राप्त कर्मचारी संगठनों द्वारा  मुख्यमंत्री  एवं मुख्य सचिव को संबोधित ज्ञापन  पूरे प्रदेश में जिला कार्यालयों में दिया गया।
इसी क्रम में झाबुआ जिले में अपर कलेक्टर  जे.एस. बघेल को ज्ञापन सौंपा
 प्रमुख मांगे
1- प्रदेश के अधिकारियों, कर्मचारियों सहित  पेंशनरों ,निगम मंडल इत्यादि में कार्यरत अधिकारियों /कर्मचारियो को केन्द्रीय कर्मचारियो के समान केन्द्रीय तिथि से  16%महगाई भत्ता का  भुगतान तत्काल किया जावे  एवं वेतन वृद्धि का एरियर्स भी दिया जावे।
 2 –  अधिकारियों /कर्मचारियों  को सशर्त मा. उच्चतम  न्यायालय के निर्णय की प्रत्याशा में पदोन्नतियां अति शीघ्र प्रारम्भ की जावे।
3- प्रदेश के अधिकारियों/कर्मचारियों सहित  पेंशनरों ,निगम मंडल इत्यादि में कार्यरत अधिकारियों /कर्मचारियो को स्वास्थ बिमा योजना का लाभ मंत्री परिषद् के आदेश दिनांक 4/01/2020 के संदर्भ में दिया जावे।
4 -प्रदेश के अधिकारियों/ कर्मचारियों सहित निगम मंडल इत्यादि में कार्यरत अधिकारियों ,कर्मचारियो को गृह भाड़ा भत्ता व अन्य भते सातवे वेतन मान अनुसार केन्द्रीय कर्मचारियो के   समान  दिया जावे।
5-प्रदेश के विभिन्न संवर्गो की वेतन विसंगति सेवा अवधी अनुसार पदनाम ,नियुक्ति दिनांक से वरिष्ठता के निराकरण दैनिक वेतन भोगी ,संविदा कर्मचारी ,स्थाईकर्मीआउटसोर्शिंगकर्मचारियोंकोनियमितिकरण,अनुकंपा नियुक्ति के सरलीकरण को लेकर एक वरिष्ठ मंत्री की अध्यक्षता में समिति का गठन किया जावे समिति के निर्णय का तत्काल आदेश हो ऐसा प्रावधान किया जाव
6-एन .पी.एस.व्यवस्था बंद कर पुरानी पेंशन व्यवस्था लागु की जावे
                  इस अवसर पर अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के जिलाध्यक्ष गजराज दातला, संयोजक अखिलेश मुलेवा, राजेश भावसार, महिला प्रमुख लीला त्रिवेदी, कोषाध्यक्ष शशिकांत शर्मा, सह संयोजक पप्पू सिंह हटीला, उपाध्यक्ष लोकेंद्र सोलंकी, प्रमोद बारिया आदि उपस्थित थे।
                  आंदोलन के तीसरे चरण में  22.10.2021 को भोपाल में एक दिवसीय प्रदेश व्यापी धरना आंदोलन किया जाकर  मुख्यमंत्री एवं मुख्य सचिव को ज्ञापन सौंपा जाएगा।