यहां अब निर्दलीय के हाथों में है अध्यक्ष व उपाध्यक्ष की डोर 

8:28 pm or July 20, 2022
मोहम्मद सईद
शहडोल, 20 जुलाई अभी तक। शहडोल जिले में सर्वाधिक चर्चाओं में रही नगर पालिका धनपुरी के 28 वार्डों में कांग्रेस के सबसे ज्यादा 13 और भाजपा के 9 पार्षदों ने विजय हासिल की है। धनपुरी में 6 निर्दलीय प्रत्याशियों ने भी विजय पताका फहराया है और इन्हीं निर्दलीय के हाथों में अब अध्यक्ष व उपाध्यक्ष की डोर है।
                         चुनाव जीतकर आने वाले सर्वाधिक चर्चित नामों में वार्ड क्रमांक 1 से भारतीय जनता पार्टी की श्रीमती रविंदर और छाबड़ा, वार्ड क्रमांक 17 से कांग्रेस के हनुमान खंडेलवाल, वार्ड क्रमांक 3 से कांग्रेस के शोभाराम पटेल और वार्ड क्रमांक 18 से कांग्रेस के आनंद मोहन जायसवाल के नाम शामिल हैं। उल्लेखनीय है, कि धनपुरी नगर पालिका में अध्यक्ष का पद पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित है।
भाजपा के यह प्रत्याशी रहे विजेता
                      शासकीय नेहरु महाविद्यालय बुढ़ार में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच बुधवार सुबह मतगणना शुरु हुई और कुछ घंटो के बाद ही परिणाम घोषित कर दिए गए।
                      जिला निर्वाचन कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार वार्ड क्रमांक 1 से श्रीमती रविन्दर कौर छावड़ा, वार्ड क्रमांक 4 से प्रवीण बढ़ोलिया, वार्ड क्रमांक 9 से संगीता सिंह, वार्ड क्रमांक 14 से अशोक कुमार भारती, वार्ड क्रमांक 15 से पूजा कोल, वार्ड क्रमांक 16 से नारायण जायसवाल वार्ड क्रमांक 20 से आनंद कचेर, वार्ड क्रमांक 24 से स्कन्द सोनी और वार्ड क्रमांक 25 रमेश बैगा ने भाजपा प्रत्यासी के रूप में जीत हासिल की है।
कांग्रेस के इन प्रत्याशियों ने लहराया परचम
                       तमाम राजनीतिक अनुमानों और कयासों को धता बताते हुए कांग्रेस के सबसे ज्यादा प्रत्याशी विजयी होकर नगर पालिका पहुंचे हैं। कांग्रेस के लिए वार्ड क्रमांक 17 से वार्ड क्रमांक 28 तक के मतदाता काफी निर्णायक साबित हुए हैं, क्योंकि इनमें से अधिकांश वार्ड के मतदाताओं की पसंद कांग्रेस प्रत्याशी हैं।
                         कांग्रेस के जिन प्रत्याशियों के सिर पर विजय का सेहरा बंधा है, उनमें वार्ड क्रमांक 17 से हनुमान खंडेलवाल, वार्ड क्रमांक 3 से शोभाराम पटेल, वार्ड क्रमांक 18 से आनंद मोहन जायसवाल, वार्ड क्रमांक से 2 विजय यादव, वार्ड क्रमांक से 5 सुकृति सिंह, वार्ड क्रमांक 8 से बालकरण विश्वकर्मा, वार्ड क्रमांक 19 से जाहबीना बेगम, वार्ड नम्बर-21 से श्रीमती दिव्य रेखा सिन्हा, वार्ड क्रमांक 22 से साजिदा बेगम, वार्ड क्रमांक 23 से समसुन बेगम, वार्ड क्रमांक 26 से चंद्रकांता कोल, वार्ड क्रमांक 27 से मोहम्मद नईम खान और वार्ड क्रमांक 28 से रेखा कोल हैं।
यह निर्दलीय हुए हैं निर्वाचित
                        6 निर्दलीय प्रत्याशियो के सिर पर विजय का सेहरा बंधा है। जो निर्दलीय जीतकर नगर पालिका पहुंचे हैं उनमें वार्ड क्रमांक 6 से शशि विश्वकर्मा, वार्ड क्रमांक 7 से सरिता दाहिया, वार्ड क्रमांक 10 से उमा चौधरी, वार्ड क्रमांक 11 से फूल कुंवर चौरसिया, वार्ड क्रमांक 12 से भोला प्रसाद पनिका और वार्ड क्रमांक 13 से नीतू सोनकर शामिल हैं।
सी एम की सभा भी काम न आई
                        धनपुरी नगर पालिका का चुनाव कितना प्रतिष्ठा पूर्ण था, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है, कि धनपुरी के बाजार रंगमंच में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा ने आम सभा की थी। इस आम सभा के बाद ऐसी  चर्चा थी कि धनपुरी में अब ज्यादातर वार्डों में भाजपा की स्थिति मजबूत हो जाएगी। लेकिन इस आम सभा का भी मतदाताओं पर कोई खास असर नजर नहीं आया।
भाजपा के बागियों को जनता ने नकारा
                   धनपुरी में भारतीय जनता पार्टी के बागी नेता कोयलांचल के नेताओं के लिए सिरदर्द बने हुए थे। अंतिम समय में इन नेताओं को पार्टी ने निष्काषित भी कर दिया। पार्टी से बगावत करके चुनाव लड़ने वाले भाजपा नेता सुरेश चतुर्वेदी, हंसराज तनवर, श्रीमती विनीता जायसवाल और दीपक राय सहित अन्य नेताओं को मतदाताओं ने नकार दिया है।
स्कूटर को मतदाताओं ने किया पंचर
                     वार्ड क्रमांक एक से निर्दलीय मैदान में उतरे अजय कुशवाहा की चर्चा पूरे चुनाव में छाई रही। उनके चुनाव चिन्ह स्कूटर की चर्चा सोशल मीडिया में भी जमकर हो रही थी। निर्दलीय प्रत्याशी अजय कुशवाहा के समर्थन में भाजपा के जिला मीडिया प्रभारी शैलेंद्र श्रीवास्तव खुलकर सामने आ गए थे, जिसके चलते उन्हें पार्टी ने निष्काषित भी कर दिया गया। सोशल मीडिया पर लगातार ऐसा प्रचार किया जा रहा था, कि स्कूटर इतनी तेज गति से चल रही है, कि उसके सामने सारे प्रत्यासी पिछड़ जाएंगे। लेकिन वार्ड क्रमांक एक के मतदाताओं ने स्कूटर को पंचर कर वार्ड में कमल का फूल खिला दिया।