यातायात पुलिस को मिला इंटरसेप्टर से लैस वाहन

मयंक भार्गव

बैतूल ९ अक्टूबर ;अभी तक;  जैसे-जैसे तकनीकी सुविधा बढ़ते जा रही है ठीक उसी अनुपात में पुलिस भी हाईटेक होते जा रही है। हाल ही में यातायात पुलिस को एक इंटरसेप्टर से लैस वाहन मिला है। इस वाहन को पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। इस वाहन की खासियत के बारे में बताया गया है कि इस वाहन में लगे संयंत्र दूर से नाप लेते हैं कि वाहन कितनी स्पीड में चल रहा है। इससे अत्यधिक स्पीड से वाहन चलाने वालों पर चालान करना पुलिस के लिए आसान हो जाएगा।

वाहन के संयंत्रों में यह है कि खूबी

बैतूल की ट्रैफिक पुलिस आधुनिक व्हीकल इंटरसेप्टर से लैस हो चुकी है। सड़कों पर अंधाधुंध रफ्तार से वाहन भगाने वालो की खैर नहीं होगी। ऐसा करने वालो पर मौके पर ही चालानी कार्यवाही होगी। इतना ही नहीं पुलिस की इंटरसेप्टर वाहन में लगा इंफ्रारेड लेजर कैमरा दूर से ओवरस्पीड वाहन को पहचान लेगा। पुलिस गाड़ी को रुकवाकर चालान कर सकेगी।

अंधी गति से वाहन दौड़ाने वालों पर होगी कार्यवाही

सड़कों पर अंधाधुंध रफ्तार से वाहन चलाने वाले अब सावधान हो जाएं क्योंकि मध्यप्रदेश पुलिस के बेड़े में हाईटेक इंटरसेप्टर वाहन शामिल हो गए हैं। इंफ्रारेड व लेजर गन से लेस ये वाहन दूर से आने वाले किसी भी वाहन की रफ्तार को माप लेगा और तय सीमा से अधिक रफ्तार पाए जाने पर ट्रैफिक पुलिस द्वारा तुरंत गाड़ी रुकवाकर चालानी कार्रवाई की जाएगी। शुक्रवार को इंटरसेप्टर वाहन एसपी आफिस पहुंचा जहां एसपी सिमाला प्रसाद एवं एडिशनल एसपी नीरज सोनी, डीएसपी विवेक गौतम ने इस आधुनिक तकनीक से लैस वाहन का निरीक्षण किया और यातायात विभाग को सौंपा।

प्रदेश के 33 जिलों में है यह सुविधा

ओवरस्पीडिंग रोकने के लिए खासतौर पर इन वाहनों का इस्तेमाल किया जाता है। वर्तमान में मध्यप्रदेश के 33 जिलों की ट्रैफिक पुलिस को इंटरसेप्टर वाहन मिले हैं। इससे ओवरस्पीडिंग और उससे होने वाली दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने का प्रयास किया जाएगा। एसपी सीमाला प्रसाद ने बताया कि इंटरसेप्टर वाहन मिलने से यातायात विभाग की मुश्किलें कम हो जाएगी और तेज रफ्तार वाहन चलाने वाले चकमा देकर भाग नही सकेंगे। ऐसे लोगो पर लगाम लगेगी क्योंकि इंटरसेप्टर वाहन में लगा इंफ्रारेड लेजर एनपीआर कैमरा दूर से ही वाहन की गति को माप लेगा जिसके बाद पुलिस मौके पर चालानी कार्यवाही करेगी वाहन में लगे प्रिंटर से तुरंत चालान की फोटो कॉपी निकालकर वाहन चालक को देगी। साथ ही वाहन मालिक के मोबाइल नम्बर पर व्हाट्सअप या मेसेज के जरिये भी चालान की सूचना भेजेगी।