यादव ने आज भी बागली विधानसभा का दौरा किया, क्या चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा एक राजनीतिक पे तरा

 बड़वाह से प्रदीप सेठिया
बड़वाह 4 अक्टूबर अभी तक ; आज अरुण यादव ने खंडवा लोकसभा क्षेत्र में देवास जिले के बागली विधानसभा क्षेत्र के मंडल सेक्टर कांग्रेस पदाधिकारियों के प्रशिक्षण शिविर में भाग लिया और कहा कि पार्टी का प्रत्याशी कोई भी हो उसे विजय बनाएं ।
               रविवार रात उन्होंने ट्वीट कर तथा पत्रकारों को कहा था कि वे निजी व पारिवारिक कारणों से अपनी उम्मीदवारी का दावा वापस ले रहे हैं परंतु जानकार लोग यादव का इसे राजनीतिक  पे तरा मान रहे हैं चुनाव नहीं लड़ने की खबर समूचे प्रदेश में जंगल मैं आग की तरह फैल गई ।
             बता दें कि यादव केंद्र में पूर्व राज्य मंत्री व पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रह चुके हैं तथा खंडवा क्षेत्र से 4 बार चुनाव लड़ चुके हैं इसके पहले वे खरगोन से भी सांसद रह चुके हैं । पूर्व वरिष्ठ पार्षद रविंद्र सिंह भाटिया ने बताया कि यादव ने विगत 5 महीनों में  बूथ व पन्ना प्रमुख स्तर पर सक्रियता से मैदानी काम कर लगभग 75000 लोगों के मोबाइल फोन की सूची तैयार कर ली है ।
           बड़वाह के कांग्रेस अध्यक्ष निलेश रोकडिया ने कहा कि अरुण सशक्त उम्मीदवार है तथा विगत दिनों वे पूरे लोकसभा क्षेत्र में दो बार भ्रमण कर चुके हैं भाटिया व रोकडिया ने  यादव से आग्रह किया कि वे कार्यकर्ताओं की भावना समझ कर उन्हें निराश नहीं करें व उम्मीद जताई कि आज रात व कल तक पार्टी हाईकमान कोई सकारात्मक निर्णय लेगा ।
          उधर प्रदेश भाजपा के वरिष्ठ नेता नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि पिछड़ा वर्ग के नेता अरुण यादव को पीछे धकेलने के लिए कांग्रेस के भीतर विगत कई दिनों से पटकथा लिखी जा रही है । सूत्र बताते हैं कि उनके राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों के लिए सवाल खंडवा लोक सभा से सांसद बनने का नहीं यादव के मजबूत होने से व भविष्य में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अथवा सीएम के दावेदार भी हो सकते हैं