यूरिया की फिर रैक लगेगी

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर १६ नवंबर ;अभी तक;  जिले मंे उर्वरक की सतत् आपूर्ति से लगातार कृषकों को उर्वरक का वितरण जारी है। रबी सीजन वर्ष 2021-22 में अब तक जिले में कृषकों को 15275 मे.टन यूरिया, 3380 मे.टन डीएपी, 1428 मे.टन एमओपी, 4456 मे.टन एनपीके तथा 30575 मे.टन एसएसपी वितरित किया जा चुका हैं। आज कलेक्टर श्री गौतम ंिसंह ने सहकारी समितियों एवं निजी विक्रेताओं पर उर्वरक उपलब्धता की समीक्षा की तथा आगामी यूरिया की आवश्यकताओं को देखते हुए चंबल फर्टिलाईजर कंपनी की एक रैक का आदेश भोपाल से पुनः करवाया है जिससे शीघ्र ही रैक जिले को प्राप्त होगी।
                              यह जानकारी देते हुए उप संचालक कृषि डॉ आंनद कुमार बड़ोनिया ने बताया कि आज की स्थिति में सहकारी समिति कचनारा में 65 मे.टन, सुवासरा में 69 मे.टन, बरखेड़ा देवडुंगरी में 66 मे.टन, रातीखेड़ी में 54 मे.टन, अजयपुर में 62 मे.टन, संधारा में 56 मे.टन, पहेड़ा में 56 मे.टन बाबुल्दा में 52 मे.टन, कनघट्टी में 37 मे.टन, बरखेड़ा गंगासा में 37 मे.टन, अंत्रालिया में 49 मे.टन, भैंसोदा में 47 मे.टन, बालागुढ़ा में में 23 मे.टन, तरनोद में 42 मे.टन, बर्डिया इश्तमुरार में 31 मे.टन, खेजडिया में 64 मे.टन, नावली में 37 मे.टन, रूनीजा में 37 मे.टन, धुंधडका में 35 मे.टन, झार्डा में 28 मे.टन, बरखेड़ा पंथ में 30 मे.टन, चंदवासा में 35 मे.टन, लावरी में 9 मे.टन, बेहपुर में 28 मे.टन, मल्हारगढ़ में 31 मे.टन, एलची में 27 मे.टन, बरखेडा नायक में 30 मे.टन, लसुडिया में 30 मे.टन, भानपुरा में 30 मे.टन, असावती में 16 मे.टन, भगुनिया में 29 मे.टन, टकरावद में 54 मे.टन, बर्डिया अमरा में 27 मे.टन, दिपाखेड़ा में 6 मे.टन, नारायणगढ़ में 36 मे.टन, शामगढ़ में 55 मे.टन, गरोठ में 25 मे.टन, दसोरिया में 25 मे.टन, विशन्या में 25 मे.टन, देथली बुजूर्ग में 25 मे.टन, नीमथुर में 25 मे.टन, अमलावद में 18 मे.टन, साखतली में 7 मे.टन,  खाईखेड़ा में 34 मे.टन, हतुनिया में 10 मे.टन, ढाबला मोहन में 23 मे.टन, मेलखेड़ा में 22 मे.टन, भटुनी में 23 मे.टन, खजुरीपंथ में 36 मे.टन, संजीत में 10 मे.टन, देहरी में 20 मे.टन, खजुरीनाग में 19 मे.टन, करजु में 10 मे.टन, नन्दावता में 13 मे.टन, बिल्लोद में 17 मे.टन, सांजलपुर में 17 मे.टन, बोरदा में 29 मे.टन, सीतामऊ में 6 मे.टन, धुवाखेडी में 31 मे.टन, बोलिया में 14 मे.टन, निम्बोध में 10 मे.टन, ढाबलामाधो में 8 मे.टन, गुराडिया विजय में 32 मे.टन, डोरवाडा में 18 मे.टन, गुजरदा में 18 मे.टन, खजुरी गोड में 16 मे.टन एवं बुढ़ा में 5 मे.टन यूरिया खाद उपलब्ध हैं।
सहकारी समिति धुंधड़का में 48 मे.टन, कचनारा में 61 मे.टन, खेजडिया में 25 मे.टन, गुर्जरबर्डिया में 18 मे.टन, संजीत में 20.8 मे.टन, करजू में 19 मे.टन, डोरवाड़ा में 18.05 मे.टन, रातीखेड़ी में 18 मे.टन, नारायणगढ़ में 12 मे.टन, धारिया खेड़ी में 18 मे.टन, क्यामपुर में 18 मे.टन, पिपल्या कराडिया में 18 मे.टन, पानपुर में 18 मे.टन, खजुरी गोड में 18 मे.टन, नाटाराम में 18 मे.टन, साखतली में 17 मे.टन, शामगढ़ में 17 मे.टन, सुवासरा में 15 मे.टन, बाबुल्दा में 15 मे.टन, अंत्रालिया में 15 मे.टन, रूनीजा में 15 मे.टन, गुराडिया विजय में 15 मे.टन, निम्बोद में 11 मे.टन, बरखेड़ा नायक में 10 मे.टन, मल्हारगढ़ में 9 मे.टन, दिपाखेड़ा में 5 मे.टन, बरखेड़ा गंगाशा में 7 मे.टन, भटुनी में 24 मे.टन, हतुनिया में 20 मे.टन, खाईखेड़ा में 15 मे.टन, मेलखेड़ा में 15 मे.टन, असावती में 15 मे.टन तथा खजुरीपंथ में 12 मे.टन डी.ए.पी. उपलब्ध हैं।
सहकारी समिति गुडभेली में 11 मे.टन, झार्डा में 11 मे.टन, निम्बोद में 11 मे.टन, सीतामऊ में 7 मे.टन, बरखेड़ा पंथ में 7 मे.टन, संजीत में 6 मे.टन, बरखेड़ा गंगाशा में 5 मे.टन, बिल्लोद में 7 मे.टन, अमलावद में 6 मे.टन, सातलखेड़ी में 6 मे.टन, पहेड़ा में 5 मे.टन तथा बरखेड़ा देवडुंगरी में 5 मे.टन एन.पी.के. खाद उपलब्ध हैं।
 उपरोक्त जानकारी उन समितियों की है जहां संबंधित उर्वरक 100 बोरी से ज्यादा मात्रा में उपलब्ध हैं। उन समितियों  में जहां उर्वरक कम हो रहा हैं लगातार प्राप्त हो रही रैक से उर्वरक आपूर्ति की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही हैं।