योजनाओं के नाम पर भ्रष्‍टाचार की भेंट चढ़ रही शासन की धनराशि

भिंड से रवि शर्मा

भिण्‍ड २९ अगस्त ;अभी तक;  जिले भर में अधिकांश शासकीय कार्यालय इन दिनों भ्रष्‍टाचार का अडढे बने हुए है। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग से लेकर खाद्य विभाग व आरटीओ विभाग सहित लगभग प्रत्‍येक कार्यालय पर चढ़ोतरी देने का ट्रेड बन गया है। ऐसे में आम नागरिकों को जो कार्य नियम मुताबिक आसानी से हो जाते हैं, उन्‍हें कराने में भी कई तरह की परेशानियों से गुजरना पड़ रहा है। इस समस्‍या को देखते हुए यूथ कांग्रेस जिलाध्‍यक्ष आशार्वाद शर्मा के नेतृत्‍व में आमजन द्वारा कलेक्‍टर को विभागों में चल रहे भ्रष्‍टाचार की जांच कराते हुए इस पर अंकुश लगाने की मांग की गई है।

यहां बता दें कि आमजन की समस्‍याओं को लेकर यूथ कांग्रेस द्वारा कलेक्‍टर कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए स्‍वास्‍थ्‍य विभाग से लेकर खनन, खाद्य व आरटीओ सहित विभिन्‍न कार्यालयों में चल रही धांधली व भ्रष्‍टाचार की जांच कराने की मांग की गई। इस दौरान ज्ञापन के माध्‍यम से कलेक्‍टर को बताया गया कि वर्तमान में कुछ शासकीय कार्यालयों में भ्रष्‍टाचार चरम पर पहुंच चुका है। आर्म्‍स शाखा में पदस्‍थ कर्मचारियों द्वारा आर्म्‍स लाइंसेस के रिन्‍युअल के लिए लोगों को परेशान किया जाता है, वहीं पुलिस वैरिफिकेशन के नाम पर 500 रूपए की घूस मांगी जाती है। जो लोग घूस नहीं देते उनका आवेदन निरस्‍त कर दिया जाता है। खाद्य आपूर्ति विभाग में पदाधिकारियों द्वारा राशन वितरण केन्‍द्रों को आवंटित राशन व कुल राशन वितरण के बीच के अंतर को अपने पद का दुरूपयोग कर शून्‍य किया जाता है। इसके एवज में लाभान्वित लोगों से पैसे वसूल किए जाते है और गरीब व असहाय लोगों के हक का राशन छीन लिया जाता है। वहीं जिला खनिज अधिकारी के संरक्षण में वर्षों से जिले में रेत का उत्‍खनन किया जा रहा है। जिस पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

    कोरोना संक्रमितों पर खर्च की जा रही राशि की भी हो जांच

कलेक्‍टर से मुलाकात के दौरान यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की तरफ से कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के दौरान किए जा रहे खर्च को लेकर भी जांच कराने की मांग की। कलेक्‍टर को बताया कि संक्रमित मरीजों का कितने दिन इलाज चला और इस दौरान प्रत्‍येक मरीज पर कितनी राशि एवं दवाइयां खर्च की गई। इसके अवाला शासन की ओर से कितनी राशि आवंटित की गई। इसके साथ ही महिला एवं बाल विकास विभाग में कोरोना  काल के दौरान जितने भी भुगतान हुए है। उनकी भी जांच की जाए। इससे साफ हो जाएगा कि भिण्‍ड में सीधे भ्रष्‍टाचार के साथ-साथ फर्जीवाड़ा कर कितनी धांधली की जा रही हैा

  • ज्ञाापन के माध्‍यम से जिलेभर की समस्‍याओं से अवगत कराया गया है। जो भी आरोप लगाए जा रहे हैं। उन पर जिम्‍मेदार अधिकारियों को निर्देशित कर पता लगाया जाएगा। कहीं कोई भी धांधली पाई जाती है तो कार्रवाइ्र करेंगे।

वीरेंद्र नवल सिंह रावत, कलेक्‍टर भिण्‍ड

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *