रकम दुगनी करने का मामला रिमांड की अवधि बढी

7:41 pm or May 30, 2022
आनंद ताम्रकार
बालाघाट ३० मई ;अभी तक;  बालाघाट जिले से बहुचर्चित हुए रुपयों को दुगना तिगना करने के मामले में आज सोमवार को विशेष अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश श्री मनोत तिवारी के न्यायालय में सुनवाई हुई। न्यायालय ने मुख्य आरोपी सोमेन्द्र कन्करायने सहित 11 आरोपियों की न्यायायिक अभिरक्षा की अवधि आगामी 14 दिनों के लिये बढाकर 13 जून तक कर दी है।
                     इस दौरान पुलिस की ओर से मामले में मिले अन्य साक्ष्यों के संबंध में पूछताछ और उनकी तस्दीक के लिये न्यायालय से अनुमति मांगी गई थी। जिसके आधार पर न्यायालय ने पुलिस को इस संबंध में वीडियोग्राफी कर जेल में न्यायायिक अभिरक्षा में पूछताछ की अनुमति भी दी है।
                   यह उल्लेखनीय है की विगत 17 मई पुलिस ने सोमेन्द्र कन्करायने सहित अन्य आरोपियों के पास से 10 करोड़ रुपये की नगद रकम बरामद की थी। जिसके आधार पर अनियमित वित्तीय लेनदेन संबंधित प्रावधानों के आधार पर प्रकरण कायम कर सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया गया और उन्हें न्यायालय में प्रस्तुत किया गया था जहां से उन्हें न्यायायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया था।
                         यह भी उल्लेखनीय है की इस मामले के मुख्य आरोपी सोमेन्द्र की गिरफ्तारी के बाद उनके समर्थकों,एजेंटों ने जिला मुख्यालय तथा न्यायालय परिसर में हंगामा किया था जिस कारण इस मामले की गंभीरता और कानून व्यवस्था की स्थिति के मद्देनजर पुरे मामले की सुनवाई विडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से की गई जिसमें आरोपी जेल से ही विडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुये।
                      आज भी अषाति भंग करने की कोई कोशिश ना हो इस लिहाज से न्यायालय परिसर के आसपास कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी।
                  पुलिस अधीक्षक समीर सौरभ ने पुन अपील की है की जिन लोगों ने रकम दुगनी होने के लालच में अपनी मेहनत की कमाई आरोपियों को दि है उक्त राशि उन्हें वापस दिलाई जायेगी। इसके लिये कलेक्टर कार्यालय, तहसील कार्यालय और पुलिस अधीक्षक कार्यालय एवं एक विशेष हेल्पलाइन प्रारंभ की गई जिसका कार्यकाल आगामी 7 दिवस के लिये बढा दिया गया है जिसमें पीड़ित लोग निवेश किये जाने संबंधी जानकारी दे सकते है ताकि उन्हें उनकी रकम आरोपियों से लेकर लौटाई जा सके।