रतलाम पुलिस ने चौबीस घंटो में किया अंधे कत्ल का पर्दाफाश

2:37 pm or November 15, 2022

अरुण त्रिपाठी

रतलाम,14 नवंबर ;अभी तक;  पुलिस ने शहर के औद्योगिक पुलिस थाना क्षेत्र अंतर्गत राजीव नगर में राजेश वासन हत्याकांड का चौबीस घण्टों में पर्दाफाश कर दिया है। राजेश की हत्या लेन देन के विवाद के चलते की गई थी। उसकी हत्या में शामिल दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर  हथियार सहित अन्य सामान जब्त किया है। हत्या का मुख्य आरोपी फरार बताया गया है।

एसपी अभिषेक तिवारी ने बताया कि पीएनटी कालोनी निवासी कृष्णामोहन शर्मा ने 12 नवंबर को अपने साले  राजेश वासन की अज्ञात लोगों द्वारा हत्या करने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। राजेश उसके राजीव नगर स्थित मकान पर मृत अवस्था में मिला था। उसके हाथ पांव को टेप से चिपका कर बांधकर मुंह पर भी टेप चिपकाया गया था।

सीसीटीवी फुटेज,वैज्ञानिक साक्ष्य और आसपास पूछताछ के बाद सुराग मिलने पर पुलिस ने मोतीनगर रतलाम निवासी जगन्नाथ डाबिया पिता भूरालाल उम्र 38 वर्ष और धीरजशाह नगर निवासी कमल राठौर पिता शांतिलाल उम्र 25 वर्ष को हिरासत में लेकर कडी पूछताछ की। इस दौरान दोनो आरोपियों ने हत्याकाण्ड की सारी सच्चाई सामने रख दी।

आरोपियों के अनुसार उनके साथी विजय उर्फ बृजेश पिता बाबूलाल सोलंकी उम्र 26 वर्ष निवासी न्यू अलका पुरी और  राजेश वासन के बीच लेन देन का विवाद चल रहा  था। विजय उर्फ बृजेश ने अपनी टवेरा गाडी राजेश के पास गिरवी रख कर 4-5 लाख रुपए उधार लिए थे। राजेश द्वारा जब आरोपी विजय उर्फ बृजेश से अपनी उधार दी गई राशि की मांग की जाने लगी, तो उसने हत्या की साजिश रची।

एसपी ने बताया कि आरोपी विजय उर्फ बृजेश ने जगन्नाथ डाबिया और कमल राठौर को लेकर राजेश के घर पंहुचकर राजेश के हाथ पांव और मुंह पर टेप चिपका कर उसके साथ मारपीट की थी। उसपर लोहे के कडे और फरसे से वार किए गए, जिससे उसकी मौत हो गई। हत्या के बाद आरोपी मृतक के घर से दो एलसीडी टीवी, गैस सिलेण्डर,नकली आभूषणों के 5 बाक्स इत्यादि लेकर निकल गए थे। पुलिस ने गिरफ्तार किए गए आरोपियों के कब्जे से एलसीडी टीवी,गैस सिलेण्डर और नकल आभूषणों के साथ हत्या में प्रयुक्त हथियार जब्त कर लिया है। मुख्य आरोपी विजय उर्फ बृजेश की सघनता से तलाश की जा रही है।

इस सनसनीखेज हत्याकाण्ड को सुलझाने में सीएसपी हेमन्त चौहान,औद्योगिक क्षेत्र टीआई अयूब खान,माणकचौक थाना प्रभारी अनुराग यादव,एसआई मुकेश सस्तिया,सत्येन्द्र रघुवंशी,सुरेश गोयल,एएसआई हीरालाल परमार,हेड कान्स्टेबल हेमेन्द्र सिंह,नारायण सिंह जादौन,आरक्षक संदीप भदौरिया,दुर्गेश जाट,हिम्मत सिंह,लखन सिंह,दीपक सिंह,शोभाराम शर्मा,वीरेन्द्र बारोठ,पंकज बारिया,राकेश निनामा,सूर्यप्रसाद,संजय,कारुलाल,मोहनलाल पाटीदार,विनोद,नब्बू डामोर,राजेश प्रजापत,रोशन सायबर सेल के आरक्षक विपुल भावसार और राहूल पाटीदार की विशेष भूमिका रही।
——————–