रतलाम में 24 घंटो के दौरान बरसा 5 इंच पानी, कई ग्रामो का संपर्क कटा

अरुण त्रिपाठी
रतलाम,30 अगस्त ;अभी तक;  जिले में शनिवार दोपहर से शुरु हुई बारिश रात भर जारी रही। चौबीस घण्टों में औसत पांच इंच से अधिक बारिश हुई। जिले के पिपलौदा और सैलाना विकासखंड में तो बारिश का आंकडा आठ इंच पार कर गया। झमाझम बारिश से बाढ जैसे हालात पैदा हो गए है। नदी,नाले उफान पर होने से कई गांवों का सम्पर्क कट गया है।  रतलाम शहर के निचले इलाकों में भी पानी भरने की खबर है। नगर को आपूर्ति करने वाला धोलावाड जलाशय भी लबालब भर चुका है।
 जिले के अलग अलग स्थानों से मिल रही सूचनाओं के मुताबिक,रतलाम तहसील के करमदी,मांगरोल,होमगार्ड कालोनी आदि में नदी और नालों पर बनी रपटें और पुल पुलियाओं पर पानी बह रहा है। रास्ते बन्द हो गए हैं। बाजना में तेलनी और कलमी रपटें,पिपलौदा में मचून,परपट कमलाखेडा,हतनारा बोरवाना,सैलाना में सरवन की रपट इत्यादि पानी के कारण बन्द हो गई है। इसी प्रकार रिंगनोद में असावती का सम्पर्क कट गया है।
जिले में पांच इंच बारिश
मौसम विभाग के मुताबिक सुबह आठ बजे समाप्त हुए पिछले चौबीस घण्टों में सर्वाधिक बारिश  पिपलौदा और सैलाना में आठ-आठ इंच दर्ज की गई,जबकि रतलाम,जावरा और ताल में पांच इंच बारिश दर्ज की गई। आलोट में चार इंच बारिश हुई,जबकि सबसे कम वर्षा रावटी में तीन इंच हुई।
पिछले वर्ष की तुलना में कम बारिश
पिछले चौबीस घण्टों मे जबर्दस्त बारिश होने के बावजूद वर्षा का आंकडा पिछले वर्ष की तुलना में कम है। मौसम विभाग के मुताबिक रतलाम में अब तक कुल बत्तीस इंच बारिश हो चुकी है,जो पिछले वर्ष की तुलना में दस इंच कम है। इसी प्रकार आलोट में अब तक कुल 29 इंच वर्षा हुई है,जो पिछले वर्ष की तुलना में 21 इंच कम है। जावरा में अब तक कुल 33 इंच वर्षा हुई है,जो पिछले वर्ष की तुलना में तेरह इंच कम है। ताल में कुल 33 इंच वर्षा हुई है,जो कि पिछले वर्ष की तुलना में16 इंच कम है। पिपलौदा में कुल वर्षा 30 इंच है जो कि पिछले वर्ष की तुलना में सात इंच कम है। रावटी में अब तक कुल वर्षा 38 इंच बारिश हुई है,जो कि गत वर्ष की तुलना में 13 इंच कम है। इसी प्रकार सैलाना में अब तक कुल वर्षा 43 इंच बारिश दर्ज की गई है,जो कि गत वर्ष की तुलना में एक इंच कम है। जिले में केवल बाजना क्षेत्र ऐसा है जहां गत वर्ष की तुलना में अधिक वर्षा हुई है। बाजना में अब तक कुल 44 इंच वर्षा हो चुकी है,जो गत वर्ष की तुलना में 8 इंच अधिक है। पूरे जिले का औसत देखा जाए तो जिले में कुल वर्षा 35 इंच हुई है,जो गत वर्ष की तुलना में 9 इंच कम है।
धोलावाड जलाशय लबालब
रतलाम का प्रमुख पेयजल स्त्रोत धोलावाड जलाशय अपनी क्षमता तक लबालब भर चुका है। ढोलावाड प्रभारी एसके मिश्रा के मुताबिक सरोज सरोवर ढोलावाड का जलभराव स्तर 395 मीटर है और बीती रात हुई तेज बारिश के बाद यह 394.70 मीटर तक भर चुका है। 395 मीटर से अधिक जलभराव के बाद बान्ध के गेट खोले जाते है। ढोलावाड जलाशय के पूरा भर जाने से अब रतलाम के लिए पेयजल की कोई कमी नहीं आएगी।

 

 

 

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *