रबी सीजन में किसानो को न हो उर्वरक की कमी- कलेक्टर श्री सिंह 

महावीर अग्रवाल
मंदसौर 14 अक्टूबर ;अभी तक;  उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास जिला मंदसौर द्वारा बताया कि कलेक्टर श्री गौतम सिंह निर्देशन में उर्वरक उपब्धता की समीक्षा की गई। रबी सीजन में किसानों को उर्वरक की कमी नहीं होनी चाहिए। जिले में उर्वरक भंडारण मार्कफैड, सहकारी संस्थाओं तथा निजी उर्वरक विक्रताओं के स्तर पर पर्याप्त है। यूरिया का 7397 मैट्रिक टन, डी.ए.पी. 3368 मैट्रिक टन, पोटाश का 1546 मैट्रिक टन, सुरप फास्फेट का 2641 मैट्रिक टन तथा कामप्‍लेक्स का 3590 मैट्रिक टन भंडारित है। लगातार मांग भेजकर रेल व सडक मार्ग से अधिक से अधिक उर्वरक समय पर किसानो को उपलब्ध कराये जाने हेतु कार्यवाही की जाए। एन.पी.के. उर्वरक बहुतत्व एवं कम कीमत के कारण लाभकारी है, जबकि डी.ए.पी. के स्थान पर ए.एस.पी. के उपयोग हेतु भी कृषको को प्रेरित किया जावे। कृषको के बीच इसकी फसलवार अनुशंसा को ध्यान मे रखते हेुए फोल्डर भी जिला प्रशासन द्वारा तैयार किया गया है।
                उर्वरक विक्रय केन्द्रो पर भीड न हो इसलिए सभी विक्रय केन्द्रो को चालू कराये तथा केन्द्रो पर भौतिक स्टाक का सत्यापन कराये । कृषको की सुविधा हेतु सोशल मिडिया एवं अन्य साधनों से उर्वरक उपलब्धता का प्रचार-प्रसार किया जावे। उर्वरक की कालाबजारी, अवैध परिवहन, अवैध भंडारण तथा अवैध निर्माण पर कठोर कार्यवाही की जावे है। जिले मे खाद, बीज तथा दवा के लगातार निरीक्षण तथा नमूना लेने हेतु जिला स्तरीय दल तथा विकाखण्ड स्तरीय निरीक्षक नियुक्त किए गये है।

 

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *