राज्य स्तरीय पुरोहित-पुजारी सम्मेलन में प्रस्ताव पारित, जो मांगें मानेगा, ब्राह्मण समाज का झुकाव वहीं होगा

मयंक शर्मा
खंडवा ६ सितम्बर ;अभी तक;  प्रदेश स्तरीर्य  पुरोहित पुजारी ब्राह्मण सम्मेलन जिले की तीर्थ  ज्योंतिर्लिग नगरी ओकारेश्वर के  औदीच्य ब्राह्मण समाज धर्मशाला में  रविवार को सम्पन्न हुआ जिसमे मांगो का प्रस्ताव पारित करने के साथ आवाज बुंलद की कि  जो भी इन मांगों पर ध्यान देगा, उसी की तरफ अखिल भारतीय ब्राह्मण समाज का झुकाव होगा। सम्मेलन मेें सर्वसम्मति से सरकार के सामने 5 सूत्री मांग पत्र रख गया ।
                सम्मेलन संयोजक  जयप्रकाश पुरोहित  ने बताया कि सम्मेलन में मांगो ं पर विस्तार से चर्चा कर प्रस्ताव को अनुमोदित कर मध्य प्रदेश और भारत सरकार को भेजा गया है।
                 इस दौरान जूना अखाड़ा उज्जैन के महामंडलेश्वर शैलेश आनंद गिरि, सन्यास आश्रम से मोहन चेतन, राघवानंद, विश्व ब्राह्मण संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र महंत, राष्ट्रीय मंत्री देवेंद्र शास्त्री, सहित   आमंत्रित 250 से अधिक पुरोहित पुजारी मैजूद थें।
                 आयोजन संस्थो प्रदेश अध्यक्ष जयप्रकाश पुरोहित ने बताया कि पहली बार आहूत
1.ं मंदिरों की भूमि की नीलामी सरकार द्वारा नहीं करने, ।
2. मंदिरों को सरकारी करण से मुक्ति ।
3. पुजारियों को उचित वेतन देने ।
4  तीर्थों का स्मार्ट सिटी की तर्ज पर विकास और सभी तीर्थ स्थानों पर
तीर्थ पुरोहित व पुजारियों की जिला प्रशासन के साथ समन्वय समिति  गठन
करने ।
5.मंदिरों में गैर परंपरागत पुजारियों की नियुक्ति रोकने
संबंधी मंगो का प्रस्ताव सर्वसम्म्ति से पारित किया गया।
सम्मेलन में  अखिल भारतीय ब्राह्मण समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुरेंद्र
चतुर्वेदी ने कहा कि चार धाम मंदिर उत्तराखंड का देवस्थानम बोर्ड भंग
किये जाने पर जोर दियां