रापी गैंग का फरार आरोपी दो साल बाद गिरफ्तार

श्याम त्रिवेदी।

झाबुआ 29 दिसंबर ;अभी तक;  मध्यप्रदेश के झाबुआ जिले के प्रमुख मार्गो से आने जाने वाले वाहनों को रापी लगाकर पंचर कर राहगिरों को लूटने वाले रापी गैंग के एक आरोपी किशन पिता मोहब्बत वाखला निवासी ग्राम माछलिया  को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी दो साल से फरार था ओर उसकी गिरफ्तारी पर पुलिस ने ईनाम रखा था।

                 अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आनंद सिंह वास्कले ने बताया कि वर्ष 2019 में अज्ञात बदमाश झाबुआ और आसपास के प्रमुख मार्गो पर रात में आने-जाने वाले चार पहिया वाहनों को पत्थरों की रापी लगाकर टायर को पंचर कर देते थे। जब वाहन चालक टायर को बदलने के लिये गाड़ी रोकता था तो झाड़ीयों में छिपे गिरोह के अन्य सदस्य पत्थर और लाठी से अचानक हमला कर वाहन में बैठे यात्रियों को भयभीत कर उनसे लूटपाट करते थे। अंधेरे का फायदा उठाकर घटनास्थल से दूर जगंलो में भागकर छुप जाते थे। एक बार में दो-तीन वाहनों को निशाना बनाते थे।
                  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपी किशन वर्ष 2019 से ही फरार चल रहा था। पुलिस द्वारा 20,000 का ईनाम रखा गया था।  29 दिसंबर को मुखबीर द्वारा सूचना मिली कि आरोपी किशन को झाबुआ बाजार में घुमते हुए देखा गया है, पुलिस टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए आरोपी किशन को पकड़ने में सफलता प्राप्त् की। आरोपी किशन को पकड़ने के लिए न्यायालय द्वारा स्थाई वारंट भी जारी किया गया था। आरोपी पर झाबुआ कोतवाली पर 394,395 भादवि मे मामले दर्ज है।