रामटेकरी-रेवास देवड़ा रोड़ का सौंदर्यीकरण, चौड़ीकरण व विद्युतीकरण एवं शिवाजी महाराज की प्रतिमा स्थापना अत्यन्त आवश्यक

महावीर अगरवाल
मन्दसौर ४ सितम्बर ;अभी तक;  जनजागृति संगठन मंदसौर द्वारा नगरपालिका परिषद् मंदसौर तथा लोक निर्माण विभाग मंदसौर का ध्यान आकर्षण कराते हुए मांग की है कि मंदसौर शहर महानगर की तर्ज पर विकसित हो रहा है। जहां चारों ओर डामरीकरण, विस्तारीकरण, अण्डरब्रिज, ओव्हरब्रिज और क्षेत्रों का विकास हो रहा है, वहीं विगत 20-25 वर्षों से उपेक्षित रेवास देवड़ा रोड़ अपने सम्पूर्ण विकास की बांट जोह रहा है।
                     रेवास देवड़ा रोड़ ऋषियानन्द कुटिया से लेकर बायपास हाई-वे तक इस रोड़ का यथासंभव डामरीकरण करते हुए चौड़ीकरण किया जाये। साथ ही विद्युतीकरण और सौंदर्यीकरण के लिये भी यह प्रतिक्षारत रहा है। जहां चारों और देखने में आता है नगर के अन्य सभी रोड़ जिसमें महावीर मार्ग, संजीत रोड़  से लेकर जग्गाखेड़ी तक पूर्ण विकसित हो चुका है, सीतामऊ फाटक रोड़, प्रतापगढ़ रोड़ भी पूर्ण विकसित हो चुका है। वहीं गुराड़ियादेदा बालाजी तक एवं नवीन कलेक्ट्रेट भवन से हाईवे तक भी रोड़ का चौड़ीकरण, दोहरीकरण हो रहा है जो प्रशंसनीय है। किन्तु विगत 30-40 वर्षों पूर्व विकसित 500 क्वार्टर, इन्द्रा नगर क्षेत्र आज भी अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। आये दिन महाविद्यालय, विद्यालय और रेवास देवड़ा क्षेत्र के ग्रामीण दुर्घटना का शिकार होते रहते है। इस रोड़ का चौड़ीकरण अत्यन्त आवश्यक है तथा विद्युतीकरण करके दुर्घटनाओं को रोका जाना चाहिए। सााथ ही इस क्षेत्र के सम्पूर्ण विकास के लिये वृद्धाश्रम के पीछे से नवीन कलेक्ट्रेट तक  डामरीकरण करके रोड़ बनाना चाहिए ताकि क्षेत्रवासियों को आवागमन में सुविधा मिले। साथ ही हाईवे से हैदरवास होते हुए 10 क्वार्टर तक का जो प्रस्तावित रोड़ है उस पर भी प्राक्कलन, टी.एस. व निर्माण कार्य जल्द प्रारंभ होना चाहिए। हाईवे पर स्थित हॉकी ट्रेक के समीप शिवाजी महाराज की आदमकद प्रतिमा स्थापित की जाना चाहिए। क्योंकि मंदसौर कलेक्टर द्वारा राजपूत समाज को जमीन आवंटन किया गया है। साथ ही रामटेकरी स्थित तेलिया तालाब की छोटी पूल पर बड़ी पुल का निर्माण किया जाये।
क्षेत्रिय सामाजिक कार्यकर्ता व जागरूक नागरिकों के आव्हान पर जन जागृति संगठन ने इसे एक मुहिम के रूप में लिया है और आने वाली 7 सितम्बर 2020 को नगरपालिका परिषद् के 80 प्रस्तावों के साथ  इस प्रस्ताव को भी स्थान मिले इस प्रकार की मांग जनजागृति संगठन के संरक्षक रमेशचन्द्र चन्द्रे, ठा. अर्जुनसिंह राठौर, कमलकुमार नेमीचंद कोठारी, राजाराम तंवर, संगठन के अध्यक्ष जयेश नागर, उपाध्यक्ष दिनेश जेठानिया एड., उमरावसिंह जैन एड., आशीष बंसल, विजय सक्सेना, सचिव मनीष पारिख, सहसचिव चन्द्रोदय अग्रवाल, प्रचार मंत्री अजीजुल्लाह खानं, गोविन्द हाड़ा आदि ने की है। यह जानकारी संगठन के प्रवक्ता अमीत परमार ने दी।

 

 


Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *