राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे में प्रथम दस जिलों में आने के लिए सभी एकजुट होकर टीम के रूप में विशेष प्रयास करें -जिला शिक्षा अधिकारी

5:36 pm or September 30, 2021
राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे में प्रथम दस जिलों में आने के लिए सभी एकजुट होकर टीम के रूप में विशेष प्रयास करें -जिला शिक्षा अधिकारी
महावीर अग्रवाल 
मन्दसौर ३० सितम्बर ;अभी तक;  12 नवंबर 2021 को होने वाले राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे के लिए डाइट मंदसौर में आयोजित जिला स्तरीय समीक्षा बैठक में जिला नोडल अधिकारी श्री आर.एल.कारपेंटर ने कहा कि राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे में प्रथम दस जिलों में आने के लिये हम सभी को एकजुट होकर टीम के रूप में विशेष प्रयास करने की आवश्यकता है। इस सर्वे के परिणामों से जिले की प्रतिष्ठा जुड़ी है। इसलिये यह अत्यावश्यक है कि सभी शिक्षक पूरा समय शाला में रहकर कक्षा 3, 5 व 8 के लिए शाम साढ़े पांॅच बजे तक नेस आधारित विशेष कक्षाओं का आयोजन करें।
                      इस अवसर पर डीपीसी एवं सहायक नोडल अधिकारी नेस सर्वे श्री आर.पी.प्रजापति ने बैठक में उपस्थित मंदसौर सीतामउ व मल्हारगढ़ विकासखण्ड के बीआरसीसी,बीएसी, जनशिक्षकों से संवाद करते हुए कहा कि यह अत्यधिक महत्वपूर्ण समय है। सभी बी.आर.सी.सी. बी.ए.सी. एवं जनशिक्षक राज्य शिक्षा केंद्र भोपाल द्वारा उन्हें दिए गए अकादमिक दायित्वों का निर्वहन पूरी गंभीरता से करें।यह सुनिश्चित करें कि उन्हें जिन जनशिक्षा केंद्रों का दायित्व दिया गया है उसमें सभी निर्देशों का पालन हो रहा है। यह आवश्यक है कि बच्चों से अभ्यास प्रश्न बैंक के प्रश्नों पर कक्षा में चर्चा हो और ऐसे ही और प्रश्न बनवाकर अभ्यास करवाया जाए।
इस समीक्षा बैठक के प्रथम सत्र में सर्वप्रथम तीनों  विकासखण्डों के द्वारा छोटे समूहों में नेस सर्वे में प्रगति की वर्तमान स्थिति की जनशिक्षा केंद्रवार समीक्षा कर प्रस्तुत की।सभी विकासखण्डों के प्रस्तुतिकरण की समीक्षा, प्रभारी श्री प्रदीप पंजाबी द्वारा की गई।श्री पंजाबी द्वारा 2017 में जिले की स्थिति, 2021 हेतु लक्ष्य और हमारी कार्ययोजना विषय पर विषद चर्चा की।
                डाइट प्राचार्य डॉ. प्रमोद सेठिया द्वारा राजस्थान के झूुंझनू जिले के मॉडल के अनुसार माइक्रो प्लानिंग से कार्य करने की बात कही । झूंझनू का उल्लेख किया जो 2017 में प्रथम स्थान पर आया था। ज्ञात हो कि 2017 में राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे में राजस्थान राज्य सर्वाधिक अच्छा प्रदर्शन करने वाले राज्यों में से था।
               नेस की परीक्षा में चयनित विषयों हिंदी, गणित पर्यावरण,विज्ञान एवं सामा.विज्ञान विषय के लर्निंग आउटकम,अभ्यास टेस्ट से निकले कठिन बिंदु, प्रश्न बैंक के उपयोग का तरीका आदि बिंदुओं पर  विषयवार समीक्षा क्रमशः श्री शैलेंद्र आचार्य,श्री आर.डी.जोशी. डॉ.अलका अग्रवाल एवं श्री परमेश्वर सिंह शक्तावत द्वारा की गई।
                 कार्यक्रम के अंत में श्री लोकेंद्र डाबी द्वारा नेस में पूछे जाने वाले प्रश्नों की प्रकृति,उनका उद्देश्य और आवश्यक तैयारी पर चर्चा की।