राष्ट्रीय कृमिमुक्ति कार्यक्रम 13 सितम्बर से 23 सितम्बर तक

मयंक भार्गव

बैतूल, 01 सितंबर ;अभी तक;  प्रदेश में राष्ट्रीय कृमिमुक्ति कार्यक्रम का आयोजन 13 सितम्बर से 23 सितम्बर 2021 तक समुदाय आधारित गृह भ्रमण रणनीति के माध्यम से जाएगा। जिसके अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग एवं महिला बाल विकास विभाग के मैदानी कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर 1-19 वर्षीय समस्त हितग्राहियों को कृमिनाशन की दवा (एल्बेंडाजॉल) खिलाई जायेगी, ताकि मिट्टी जनित कृमि संक्रमण की रोकथाम सुनिश्चित हो।

उल्लेखनीय है कि बच्चों में कृमि संक्रमण, व्यक्तिगत अस्वच्छता तथा संक्रमित दूषित मिट्टी के संपर्क से संभावित होता है। कृमि संक्रमण से बच्चों का जहाँ एक ओर शारीरिक एवं बौद्धिक विकास बाधित होता है वहीं दूसरी ओर उनके पोषण स्तर पर दुष्प्रभाव पड़ता है। अत: एक से 19 वर्षीय बच्चों का कृमिनाशन करना, विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा अनुशंसित एक साक्ष्य आधारित सकारात्मक रणनीति है। राष्ट्रीय कृमिमुक्ति दिवस के क्रियान्वयन हेतु स्वास्थ्य विभाग नोडल विभाग है। कार्यक्रम का निष्पादन महिला एवं बाल विकास विभाग के समन्वय से किया जायेगा, जिसमें अन्य विभाग यथा स्कूल शिक्षा विभाग, आदिम जाति कल्याण विभाग पंचायत राज एवं ग्रामीण विकास विभाग आदि का सहयोग रहेगा।
इस तरह मिलेगी एल्बेंडाजॉल गोली की खुराक
आशा कार्यकर्ता, एएनएम, आशा सुपरवाइजर व आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा अपनी निगरानी में विभिन्न हितग्राही वर्ग को एल्बेंडाजोल गोली का सेवन कराया जायेगा। जिसमें एक से दो वर्ष आयु वर्ग को एल्जेंडाजोल की 400 मिग्रा की आधी गोली चूरा करके पीने के साफ  पानी के साथ, 2 से 3 वर्ष को एल्बेंडाजॉल की 400 मिग्रा की पूरी गोली चूरा करके पीने के साफ  पानी के साथ तथा 3 से 19 वर्ष को एल्बेंडाजोल की 400 मिग्रा की पूरी गोली चबाकर पीने के साफ  पानी के साथ प्रदाय की जायेगी।
यदि राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम के दौरान विद्यालयों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों का संचालन किया जा रहा हो तथा विद्यालयों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में बच्चों किशोर/किशोरियों की उपस्थिति हो, उस स्थिति में मैदानी कार्यकर्ताओं द्वारा गृह भ्रमण के साथ-साथ विद्यालयों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में जाकर भी शिक्षकों के सहयोग से उपलब्ध समस्त हितग्राहियों को एल्बेंडाजॉल की गोली का सेवन कराया जायेगा। इसी तरह 13 सितम्बर से 23 सितम्बर तक (गांव या वार्ड में पूर्व निर्धारित) व्हीएचएसएनडी दिवसों के आयोजन के दौरान भी संबंधित मैदानी कार्यकर्ताओं द्वारा कोविड-19 सुरक्षा नियमों का पालन करते हुये व्हीएचएसएनडी स्थल पर उपस्थित हितग्राहियों को कृमिनाशन की दवा खिलाई जायेगी।
राष्ट्रीय कृमिमुक्ति कार्यक्रम अंतर्गत गृह भ्रमण तथा विद्यालय एवं आंगनवाड़ी केन्द्र भ्रमण के दौरान मैदानी कार्यकर्ताओं द्वारा कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन किया जायेगा तथा मास्क का प्रयोग अनिवार्यत: करते हुये कार्यकर्ताओं द्वारा अपने हाथों को अच्छी तरह से साबुन व साफ पानी से अथवा सैनिटाइजर से साफ करने के उपरांत ही बच्चों को एल्बेंडाजॉल गोली का सेवन कराया जायेगा।