राष्ट्रीय बौद्ध महासभा ने जिलाधीश मन्दसौर को निजीकरण के विरोध में 5 सूत्रीय ज्ञापन सौंपा

12:16 pm or September 25, 2020
राष्ट्रीय बौद्ध महासभा ने पूना पेक्ट धिक्कार दिवस                                      जिलाधीश मन्दसौर को निजीकरण के विरोध में 5 सूत्रीय ज्ञापन सौंपा

महावीर अग्रवाल

मन्दसौर २५ सितम्बर ;अभी तक; राष्ट्रीय बौद्ध महासभा.. जिला इकाई मन्दसौर के द्वारा आज दिनाँक 24 सितम्बर 2020 गुरुवार को *पूना पेक्ट धिक्कार दिवस* के रूप में मनाते हुए..  राष्ट्रव्यापी आंदोलन के तहत देशभर के सभी जिला मुख्यालयों पर, जिला कलेक्टरों को ज्ञापन दिये जाने वाले ज्ञापन की श्रृंखला में मन्दसौर कलेक्टर कार्यालय पर उपस्थित होकर.. अपनी प्रमुख पांच मांगों को लेकर ज्ञापन दिया, जिसके तहत 1, पृथक निर्वाचन क्षेत्र लागू करो, राजनीतिक आरक्षण बंद करो।   2,साकेत नगरी अयोध्या को विश्व बौद्ध स्थल घोषित करो, मंदिर निर्माण पर पुनः विचार करो। 3,निजी करण को बंद करो, राष्ट्रीय संपत्ति की रक्षा करो। 4, शिक्षा का राष्ट्रीयकरण करो एवं राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू करो। 5, ईवीएम वोटिंग मशीन को बंद करो तथा बैलेट पेपर से चुनाव करवाना शुरू करो।

उक्त पाचों प्रमुख मांगों को रखते हुए मंदसौर जिला मुख्यालय पर राष्ट्रीय बौद्ध महासभा के प्रांतीय सह संयोजक बी.आर. सिसोदिया “सम्यक” के आतिथ्य में.. जिला संयोजक एडवोकेट गणपतए तेनिवार के नेतृत्व में जिलाध्यक्ष  शाही कुमार बौद्ध, राधेश्याम बसेर, जेपी अहिरवार, एच.एल. मालवीय डायमंड, मुकेश कोठे, नाथूलाल चौहान, मनोज धनिया, शहजाद हुसैन शाह, पवन परिहार, योगेश रायकवार, सहित अनेक पदाधिकारियों ने ज्ञापन कार्यक्रम में भाग लेकर राष्ट्रपति महोदय के नाम एक ज्ञापन सौंपा जिसमें अपना नैतिक विरोध दर्ज करवाया गया यह जानकारी राष्ट्रीय बौद्ध महासभा के जिला संयोजक एडवोकेट गणपत तेनीवार के द्वारा दी गई।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *