रिलायंस कोल माइंस भीषण हादसा, असिस्टेंट टेकनीशियन व चालक  की दर्दनाक मौत

9:50 pm or November 15, 2020
रिलायंस कोल माइंस भीषण हादसा*  *असिस्टेंट टेकनीशियन व चालक  की दर्दनाक मौत*
एस पी वर्मा
सिंगरौली १५ नवंबर ;अभी तक;  जिला मुख्यालय से महज 8 किलोमीटर दूर रिलायंस सासन पावर प्लांट के अमलोरी कोल माइंस में दीपावली के दिन सायं साढ़े 5 बजे विशालकाय  माइनिंग ट्रक व  कैम्पर वाहन  के भीषण हादसे में  *मेसर्स नेटिजिन इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड कंपनी* के मृतक *असिस्टेंट टेकनीशियन व चालक* को क्रमशः 27 व 17 लाख का मुआवजा , आश्रित को  नौकरी व  भत्ता  देने का  त्रिपक्षीय लिखित  समझौता   जिला प्रशासन, कंपनी प्रबंधन व परिजनों के बीच  हुआ।
        उक्ताशय की जानकारी में *एसडीएम सिंगरौली ऋषि पवार* ने बताया कि गत 14 नवम्बर को *रिलायंस कोल माइंस अमलोरी में माइनिंग ट्रक(हॉल पैक)* की चपेट में संविदा कंपनी *नेटिजिन इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड* का  कैम्पर वाहन आ गया था जिसमे सवार *असिस्टेंट टेकनीशियन आदेश शाह पुत्र हीरालाल शाह उम्र 30 वर्ष निवासी अमलोरी नवानगर* व चालक *देवेंद्र पांडेय पुत्र गणेश पांडेय उम्र 25 वर्ष निवासी खटखरी* की घटना स्थल पर ही हुई दर्दनाक मौत को लेकर परिजनों सहित अन्य लोगों द्वारा की जा रही मुआवजे व नौकरी के सम्बंध में जिला प्रशासन, कंपनी प्रबंधन व परिजनों के बीच त्रिपक्षीय समझौता हो गया है।
     *एसडीएम श्री पवार* ने आगे बताया कि दोनों मृतक पक्ष से  परिजन व अन्य समर्थक , *जिला प्रशासन की ओर से वह स्वयं ,एसडीएम देवसर विकास सिंह , एसडीएम एस पी मिश्रा , सीएसपी देवेश पाठक , एसडीओपी मोरवा  राजीव पाठक , तहसीलदार श्री वर्मा सहित नवानगर टी आई यू पी सिंह, मोरवा टी आई मनीष त्रिपाठी व कोतवाली टी आई अरुण पांडेय* और  कंपनी प्रबंधन के अधिकारियों के बीच त्रिपक्षीय लिखित  समझौता हुआ जिसमें *आदेश शाह को कुल 27 लाख व आश्रित को कंपनी में नौकरी और  चालक देवेंद्र पांडेय को 17 लाख व आश्रित को नौकरी की जगह वेतन भत्ता* देने पर सहमति बनी।
*मुआवजे का विवरण*
      एसडीएम श्री पवार के अनुसार असिस्टेंट टेकनीशियन आदेश की पत्नी को दुर्घटना बीमा के तहत 10 लाख,  ग्रुप बीमा के तहत 10 लाख,  एनईपीएल कंपनी की तरफ से 3 लाख,  योग्यता अनुसार कंपनी में मृतक की पत्नी प्रियंका शाह को नौकरी , माता-पिता को 1-1 हजार रुपये का पेंशन , आश्रित पुत्र आर्यन को कंपनी द्वारा संचालित विद्यालय में निःशुल्क शिक्षा , EPLF, EPFO ( कर्मचारी मृत्यु बीमा के तहत ) 2 लाख 50 हजार, ग्रेजुएटी रकम 40 हजार सहित अन्य मद से कुल 27 लाख का मुआवजा मिला है। इसी तरह दूसरे मृतक देवेंद्र पांडेय को  वर्कमैन कंपनसेशन के तहत 10 लाख,  आश्रित पत्नी द्वारा नौकरी से इंकार की स्थिति में 8400 रुपये प्रति माह नौकरी भत्ता, आश्रित बच्चों को निःशुल्क शिक्षा, 50 हजार नगद व 4 लाख 50 हजार का चेक मिलाकर कुल 17 लाख का मुआवजा दिया गया है।
*अमलोरी कोल माइंस घटना स्थल छावनी में रहा तब्दील*
गौरतलब हो कि दीपावली की शाम साढ़े 5 बजे माइनिंग ट्रक व कैम्पर वाहन के भीषण हादसे में आदेश शाह व देवेन्द्र पांडेय की मौत हो गई थी जबकि कैम्पर में पीछे बैठे 2 कर्मी किसी तरह से गाड़ी में से कूद कर अपनी जान बचा लिए। हालाकि वह दोनों भी आंशिक रूप से घायल हुए हैं। घटना के बाद कोल माइंस के तमाम कर्मी व मृतकों के परिजनों व अन्य लोगो की भारी भीड़ आ गयी। सूचना के बाद त्वरित नवानगर टी आई यूपी सिंह दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुंच गए थे लेकिन लोगों के गुस्से व  आक्रोश को देख कोतवाली टी आई अरुण पांडेय व मोरवा टी आई मनीष त्रिपाठी सदल पहुंचे। मृतक के परिजन 50  लाख व 1 करोड़ के मुआवजे को लेकर धरने पर बैठ गए। लिहाजा  घटना दिवस के दिन कोई समझौता नही हो पाया। टी आई यू पी सिंह के नेतृत्व में भारी संख्या में पुलिस टीम मौजूद रही। दूसरे दिन 15 नवम्बर को त्रिपक्षीय समझौता के बाद उक्त मुआवजे पर सहमति बनी।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *