रेडियोलॉजिस्ट ने ली स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ठप हो गई सोनोग्राफी सेवा

3:40 pm or January 1, 2022
मंडला संवाददाता
मंडला या जनवरी ;अभी तक;  जिला अस्पताल में पदस्थ रेडियोलॉजिस्ट करूणा मर्सकोले के अवकाश में होने से पिछले 15 दिन से यहां की सोनोग्राफी मशीन बंद पड़ी है। 31 दिसंबर को रेडियोलॉजिस्ट ने अपनी अंतिम सेवा दी और करुणा मर्सकोले ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए आवेदन दे दिया। हालांकि अभी प्रशासन से अनुमति नहीं मिली है लेकिन करुणा मर्सकोले ने सेवानिवृत्ति का मन बना लिया है।
                                     31 दिसंबर को साथी कर्मचारियों ने संकेतिक विदाई समारोह आयोजित कर उनका सम्मान किया। लेकिन मरीजों को अब फिर से सोनोग्राफी के लिए भटकना पड़ेगा।
                                 जिला अस्पताल में दो सोनोग्राफी मशीन हैं लेकिन दोनो का लाभ नहीं मिल रहा है। गर्भवती महिलाओं की सोनोग्राफी के लिए रखी मशीन में ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन सहित विभिन्न दिक्कतों के कारण लाभ नहीं मिल रहा है। सामान्य सोनोग्राफी भी नये साल के पहले दिन से बंद हो जाएगी।
जिला मुख्यालय में सोनोग्राफी सेंटर की कमी के कारण कुछ मरीज जबलपुर व नैनपुर तक की दौड़ लगा रहा है। जिसमें गर्भवती महिलाओं की संख्या सबसे अधिक है। आईएसओ प्रमाणित 300 बिस्तरीय जिला अस्पताल में चिकित्सकों की कमी पहले से ही बनी हुई है। अब जांचे भी प्रभावित हो रही हैं। सोनोग्राफी के लिए दूसरे रेडियोलॉजिस्ट की व्यवस्था नहीं है। जिला अस्पताल में प्रतिदिन 10 से अधिक मरीज सोनोग्राफी कराने पहुंचते हैं, लेकिन यहां से उन्हें दूसरे अस्पताल या जांच केंद्र जाना पड़ रहा है। रोजाना एक दर्जन से अधिक मरीज सोनोग्राफी के लिए प्राईवेट अस्पताल जाने को मजबूर हैं। अस्पताल में प्रसव के मामले अधिक आते हैं। ऐसे में उनकी गर्भ की स्थिति जानने के लिए सोनोग्राफी अत्यंत आवश्यक हो जाता है। इसके लिए गर्भवती महिलाओं को निजी सेंटरों में जांच के लिए जाना पड़ रहा है।